शारदा सहायक में पानी न आने से बर्बाद हुई जायद की फसल अब खरीफ का भी होगा टोटा

विश्वनाथ त्रिपाठी
समाज जागरण
प्रतापगढ़

यूपी के प्रतापगढ़ जिले के कुंडा बिहार क्षेत्र से गुजरी शारदा सहायक नहर में पानी न आने से माइनरों के द्वारा किसान के खेत तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। नहर में पानी न आने से जिले में हरा सोना कही जाने वाली धान की फसल बेहन न डाल पाने की वजह से नहर के पास स्थित किसानों फसल पिछड़ रही है । अपनी पिछड़़ती फसल को लेकर किसान परेशान हो रहे है। पानी न आने से धान के बेहन डालने में हो रहा है काफी लेट

बिहार बाघराय क्षेत्र से गुजरी शारदा सहायक नहर मे पानी की एक बूंद भी नहीं नहरों में धूल उड़ रही है। पूरी नहरें सूखी पड़ी है। किसान येनकेन प्रकारेण अपनी आय बढ़ाने में लगा है, लेकिन क्षेत्र की नहरों में धूल उड़़ रही है। इस समय किसानों के पिपरमेंट लगाने तथा सिंचाई का समय है , धान की बेहन डालने का समय है । जबकि डीजल के दाम आसमान छू रहे है। किसान नहर में पानी आने का इंतजार कर रहे है।

इस संबंध में दर्जनों किसानो ने बताया कि महीनों से नहर में पानी नहीं है किस तरह नहर के किनारे पिपरमेंट की रोपाई होगी। नहर मे पानी नही होने के कारण ट्यूबवेल से महंगा डीजल खरीद कर सिचाई की जा रही है । जबकि किसानों की सिचाई का मुख्य साधन नहर का पानी है इस विषय पर शासन को स्वयं अपने स्तर से सोचना चाहिए ।। जबसे सरकार ने नहर की सिंचाई का कर लेना बंद किया है तब से यही हाल है ।। किसान को जब पानी की जरूरत होगी तभी मेन वक्त पर नहर का पानी चला जाता है आज लगभग 3-4 साल से यही हाल है ।। किसानों की सरकार को न ही कोई चिंता है और न ही कोई इनकी सुध लेता है ।। कृषि प्रधान देश में किसान ही बेहाल , बदहाल स्थिति में घूम रहा है ।।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: