एसएसबी 65वीं बटालियन के द्वारा योग्य प्रक्षिक्षक के नेतृत्व मे योग शिविर का हुआ आयोजन

माननीय स्वास्थ्य मंत्रालय बिहार सरकार के आदेश के आलोक में डिवर्मिंग के लिए बांटी गई अल्बेंडाजोल की गोलियां !!*
बगहा । नीरज मिश्रा
बगहा ।करे योग रहे निरोग आयुर्वेद के इस वरदान को चरितार्थ* करने के लिए दूसरी बार 65 वीं बटालियन के योग्य योग प्रशिक्षक के नेतृत्व मे आज प्रातः 6:45 से सन फ्लावर चिल्ड्रेन्स एकेडमी पठखौली बगहा -2 के प्रांगण में छात्रों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर योग प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें एसएसबी 65 वीं बटालियन के कमांडेंट पंकज डंगवाल संदीक्षा की अध्यक्षा श्रीमती उषा डंगवाल ,सेना के जवान विद्यालय के शिक्षक एवं छात्रों ने योग कर आयुष भारत के निर्माण में योगदान सुनिश्चित किए। इस अवसर पर कार्यक्रम के प्रारंभ में कमांडेंट पंकज डंगवाल और संदीक्षा की अध्यक्षा व समाज सेवी श्रीमती उषा डंगवाल को अंग वस्त्र देकर विद्यालय के प्राचार्य रघुवंश मणि पाठक निदेशक निप्पू कुमार पाठक और सहायक सिनियर शिक्षक बलराम सिंह ने संयुक्त रुप से सम्मानित किए। तत्पश्चात कमांडेंट पंकज डंगवाल और श्रीमती उषा डंगवाल ने 65 वीं वाहिनी के बी .एस . को ओ. रोशन लाल ठाकुर तथा योग सिखाने वाले अमित गोसाई और अजय चौधरी को अंग वस्त्र के साथ-साथ प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।
योग शिविर के दौरान सनफ्लावर चिल्ड्रेन्स एकेडमी पटखौली बगहा -2 के निदेशक निप्पू कुमार पाठक ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय बिहार सरकार के आदेश के आलोक में आज वर्ग चतुर्थ से लेकर वर्ग अष्टम तक के लगभग 200 बच्चों को किड़ी (पेट में मौजूद कीटाणु) को मारने की दवा अल्बेंडाजोल बच्चों को दी गई। उपस्थित सभी को गुलकोज का घोल भी पिलाया गया । दवा देने के बाद बच्चों को कुछ देर तक विद्यालय में रखा गया दवा देने के लिए स्थानीय डॉक्टर डॉ रणवीर सिंह से राय ली गई और तत्पश्चात दवा दी गई।
योग के प्रति छात्रों को जागरूक करते हुए कमांडेंट पंकज डंगवाल ने कहा कि योग ही निरोगी काया का मूल आधार है। योग केवल फिटनेस नहीं देता बल्कि शारीरिक मानसिक शांति प्रदान कर हमें सही दिशा में अग्रसर करता है। योग ही ऐसा माध्यम है जो व्यक्ति को शतायु होने का वरदान दे सकता है। क्योंकि जब शरीर ही स्वस्थ नहीं रहेगा। तो मन किसी चीज में नहीं लगेगा। अतः बच्चों के लिए यह नितांत आवश्यक है। कार्यक्रम लगभग डेढ़ घंटे तक चला ।जिसमें वृक्षासन, गरुड़ासन पद्मासन, सर्पासन, मकरासन आदि योग कराए गए। इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक वाजिद अली, पंकज धीर., के के पांडेय, गिरिजेश पाठक के अलावे जूड़ों और कराटा में अपना दमखम दिखाने वाली मौसम वर्षा एवं दिव्या मौजूद रहीं ।कार्यक्रम के समापन में विद्यालय के निदेशक निप्पू कुमार पाठक कमांडेंट पंकज गंगवाल एवं श्रीमती उषा डंगवाल ने उपस्थित पत्रकार और बच्चों को अल्बेन्डा जोल की गोली दी । अपने हाथों से ग्लुकोज का घोल पिलाए। तत्पश्चात ओम शांति शांति व सर्वे भवंतु सुखिनः सर्वे संतु निरामया के वैश्विक शांति मंत्र के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: