विश्व पर्यावरण दिवस

ग्लोबल वार्मिंग से बचने व पर्यावरण संरक्षण के लिए हर उत्सव पर लगाए जाते हैं पौधे
समाज जागरण
नीरज मिश्रा
शिक्षक के प्रयास से विद्यालय में दिखने लगी हरियाली
बगहा
विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून के उपलक्ष्य में शनिवार को शिक्षक सुनिल कुमार ने विद्यालय में बच्चों के साथ पौधारोपण किया।
कहते हैं यदि किसी काम को पूरी लगन से करें तो सफलता अवश्य मिलती है। कुछ ऐसा हीं कर दिखाया है उत्क्रमित मध्य सह माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक सुनिल कुमार और उनके साथ कार्यरत अन्य सहयोगी शिक्षकों ने। ग्लोबल वार्मिंग से बचने एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए शिक्षक सुनिल ने विद्यालय में बच्चों, शिक्षकों के जन्मदिवस पर तथा अन्य उत्सव आदि अवसर पर पौधारोपण करने का कार्य आरम्भ किया। शिक्षक के इस मुहिम को विद्यालय के सहयोगी शिक्षकों सहित प्रधानाध्यापक व बाल संसद तथा अन्य सभी विद्यार्थियों का भरपूर साथ मिल रहा है। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में शिक्षक के प्रयास को विद्यालय प्रांगण में लगे पौधों की सुरक्षा, हरियाली को देख अनुमान लगाया जा सकता है। ये शिक्षक विद्यालय में न सिर्फ विद्यार्थियों को किताबी ज्ञान देते हैं बल्कि विद्यार्थियों के शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक व चारित्रिक गुणों का भी विकास करने का कार्य करते हैं। बच्चों में भी पर्यावरण के प्रति सजगता बढ़ी है तथा वे अन्य विद्यार्थियों को भी जागरुक कर प्रेरित करते हैं। प्रधानाध्यापक उमेश प्रसाद साह ने बताया कि विभिन्न अवसर पर विद्यालय कैंपस में पौधारोपण किया जाता है ताकि हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए संकट की स्थिति न आवे। शिक्षक सुनिल ने कहा कि यह प्रकृति, पर्यावरण हमारे लिए वरदान है। इसका संरक्षण करना हमारा दायित्व है। विद्यालय में विभिन्न उत्सव के अवसर पर शिक्षक, प्रधानाध्यापक व विद्यार्थियों द्वारा पौधारोपण किया जाता है ताकि हमारी पृथ्वी पर्यावरण सुरक्षित रहे साथ हीं हमारी आने वाली पीढ़ी स्वस्थ्य, दीर्घायु हो। विश्व पर्यावरण दिवस के लिए इस साल की थीम है ‘Only One Earth – Living Sustainably in Harmony with Nature’ है।पौधारोपण के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण में शिक्षक धर्मेंद्र भारती, अभिमन्यु कुमार, महेश कुमार, शशि कुमारी, नरेंद्र पाण्डेय, शक्ति प्रकाश तथा विद्यालय के बाल संसद के मंत्रिमंडल का सहयोग होता है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: