मोदी के वाराणसी में वेंडर क्यों है बेवस और लाचार ? सुुनो योगी सरकार

समाज जागरण

वाराणसी : मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में वेंडर है बेवस और लाचार। योगी राज मे बहुत कुछ बदला लेकिन नही बदला तो वह है गरीबों के साथ होने वाले अत्याचार। नया मामला वाराणसी का है। एक तरफ सरकार दीपावली मेला लगाने जा रही है ताकि लोगों के घर के दीपक चले। दूसरी तरफ पुलिस प्रशासन के सामने सबकुछ बेकार है। वाराणसी के लंका चौराहे पर एक पथ विक्रेता जो कि अंडा बेचकर अपना और अपने परिवार का भरण पोषण करते है। उसको पुलिसकर्मी उठाकर ले जाते है, पूरे दिन उसका दुकानदारी खराब करते है फिर शाम को 1200 रुपये लेकर छोड़ देते है। यह 1200 रुपया शंकर मनी चौकी इंचार्ज गौरव उपाध्याय के नाम से लिया जाता है।

ऐसे ही एक पथ व्यवसायी राजकुमार जो कि अंडा के ठेली लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता है उसने बताया चार पुलिस वाले आकर उसे थाने ले गया। उसको पूरे दिन थाने में बंद रखा और फिर शाम के समय में 1200 रूपये लेकर छोड़ दिया। पीड़ित नें अपना दर्द ब्यान करते हुए यह भी बताया कि दो लोग और थे जिसे पुलिस थाने ले गयी और उसने पैसे नही दिया जो उसका चालान कर दिया। भारत के सबसे बड़े आर्थिक गतिविधि करने वाले पथ विक्रेता लाचार इसलिए है कि इनके साथ कोई नही है इनका सिर्फ प्रयोग किया जाता रहा है। वाराणसी खास इसलिए है कि यह भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र है।

मामले में पुलिस का पक्ष
जबकि पुलिस का अपना पक्ष ये है कि यह विडियों गलत है और बिल्कुल मनगढंत है। गौरव उपाध्याय चौकी इंचार्ज का कहना है कि यह लोग अतिक्रमण किये हुए है और इनको चेतावनी दी गयी थी। नही माना गया इसलिए कुछ लोगों का चालान किया गया। यहाँ पर वेंडिंग जोन बना हुआ है उसका पालन नही किया जा रहा है। कोई भी किसी का विडियों बनाकर डाल दे तो इसका मतलब पुलिस ही गलत है। नगर निगम नें स्वयं ही ठेली को हटवाया था और कागज मांगे थे। नगर आयुक्त भी मौजूद थे लेकिन कोई कागज लेकर नही आया। इसके बजाय वहाँ से निकल पड़े।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: