fbpx

हीमोग्लोबिन किसे कहते है ? कितना जरूरी है मानव शरीर के लिए?

हमारे शरीर के अन्दर जो लाल रक्त पाया जाता है उसे हीमोग्लोबिन कहते है इसे मापने के लिए यंत्र पाया जाता है। यह एक पैथोलोजी लैब में उपस्थि होता है इसे हीमोग्लोबिनोमेट्री कहा जाता है, हीमोग्लोबिन रक्त का सबसे अधिक महत्वपूर्ण वर्णक कहा जाता है। जिसके करण रक्त का रंग लाल होता है इसे लाल रक्तकोशिकाओं में वध्दमान रहता है इसे (Red blood call) भी कहते है। इसका मुख्य क्रिया में यह आक्सीकृत अवस्था में यह चमकीला और लाल और अनाँक्सीकृत अवस्था में बैंगनी रंग का होता है।
हीमोग्लोबिन लौहयुक्त कान्जुगेटेड प्रोटीन होता है इसका अणु गोलाकार होता हैं। इसमे प्रोटीन ग्लोबिम से चार हीम (Haeme) ग्रुप जुड़ा होता है हीमोग्लोबिन में आयरन फैरस अवस्था में होता है। इस प्रकार बना आँक्सीहीमोग्लोबिन कहते है यह कम आँक्सीजन वाले भागो में पहुँच कर विघटित होकर आँक्सीजन को स्वतंत्र कर देता है।
हीमोग्लोबन + आँक्सीजन = आँक्सीहीमोग्लोबिन
आँक्सीहीमोग्लोबिन = हीमोग्लोबिन + आँक्सीजन
हीमोग्लोबिन हमारे शरिर में आँक्सीजन वाहक का कार्य करता है तथा श्वसन क्रिया में महत्वपूर्ण योगदान करता है। इसी कारण इसको श्नसन रंजक भी कहते है। सामान्य रूप से Red Blood Call की जीवन की अवधि 120 दिन होती है जिसके पश्चात् ये विशेष रूप से प्लीहा में एण्डोथीलिमयी कोशिकाओं व्दारा नष्ट कर दी जाती है और हीमोग्लोबिन के घटक चयापचयित हो जाते है।

Please follow and like us:

One thought on “हीमोग्लोबिन किसे कहते है ? कितना जरूरी है मानव शरीर के लिए?

Comments are closed.

%d bloggers like this: