fbpx

होली का त्योहार है कोरोना का भरमार है। दिल्ली में पानी सिर्फ दारू पीने के लिए

1. किसान और उपभोक्ता दोनों को किसान रेल से होगा फायदा
महाराष्ट्रा के नागरसोली से चली 100 किसान रेलों ने, अभी तक कुल 33,885 टन प्याज, और 190 टन अंगूरो को देश के विभिन्न बाजारों में पहुचाया है; पियूष गोयल रेलमंत्री
इससे किसान को सही दाम मिलेगा और ग्राहक को सही सामान।

2. एक संन्यासी से अच्छा राजा कौन हो सकता है?
देश में लगातार हो रहे बदलाव एक बार फिर से साबित कर दिया है एक संयासी से अच्छा राजा कोई और हो ही नही सकता है। क्योंकि उसमे त्याग, बलिदान और निश्वार्थ कार्य करने की भावना होते हैं। अब यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगा कि एक अच्छे राजा के लिए आस्ट्रेलिया और कनाडा जाकर पढ़ना जरूरी नहीं है।
देश को जोड़ने के लिए गोरखपुर का मठ भी काफी है।
देश को तोड़ने के लिए जेएनयू भी कम पड़ जाता है।
एक सन्यासी में सत्ता की लालच कम और समाज के सुख-शांति का मामला ज्यादा श्रेष्ठ समझता होता है।
वर्तमान के सता में विराजमान प्रधानमंत्री मोदी और योगी ने इस बात को भलीभांति सिद्ध कर दिया है।
तपोबल का ही परिणाम है कि आज सत्ता के लिए लोग मंदिर-मंदिर जा रहे हैं। कुंभ में डुबकी लगा रहे है। जिस बहन प्रियंका की आज तक भाई राहुल के राखी बांधने तक की तस्वीर सोशल मिडंया पर नहीं है, अब वो अपने आप को दतात्रेय ब्राहमान बता रहे है। जिस नेता के नानी ने आयोध्या जाने से मना किया था। वे नेता अब दिल्ली के बुजूर्गो को आयोध्या दर्शन करवा रहे है।
जिस नेता के बाप ने रामभक्त पर गोली चलावाया वह भी अपने पूरे परिवार के साथ राम मंदिर जाकर दर्शन की बात कर रहे हैं।

होली का त्योहार है कोरोना का भरमार है।
हम सभी जानते हैं कि होली का त्योहार है, होली रंगों से खेली जाती है, खुन से नहीं। अब रंग घोलने के लिए पानी चाहिए, आप रंग पानी में घोलते पहले इससे पहले ही दिल्ली सरकार ने आपकी फ्रि वाली पानी बंद कर दिया है। अब दिल्ली वालों को इतना ही पानी दिया जा रहा है जितना कि वो दारू में मिलाकर पी सके।
ऐसे इस बार समस्या थोड़ा ज्यादा बढ़ सकता है क्योंकि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने दारू पीने वालों की उम्र 25 वर्ष से घटाकर 21 वर्ष कर दिया है। पहले भी दारू देने से पहले आधारकार्ड नहीं देखा जाता था।
अब तो केजरीवाल सरकार पर पानी का बोझ बढ़ेगा। अरे भाई दारू में मिलाने के लिए अधिक पानी की जरूरत तो पड़ेगा ही ना।
खैर चलिए अब बात कर लेते है छतीसगढ़ के बघेल सरकार की। वही भूपेश वघेल जिसने चुनाव जितने से पहले महिलाओं से वादा किया था कि बिहार की तरह शराब बंद करेंगे। लेकिन बघेल सरकार ने लोगों के लिए खासकर दारू के टैकर खरीदने पर सब्सीडी देने का ऐलान किया है, साथ ही कहा है कि अब आप अपने घर में 5 लीटर शराब रख सकते है। यानि कि अगर आपके घर में 5 लोग है तो 25 लीटर शराब आप घर में स्टोर कर सकते है। ये वहीं सरकार है जिसको प्रदेश की महिलाओं ने शराब बंद करने के लिए वोट दिया था।
भूपेश बछेल जी और उनके बुधि की तारीफ करनी होगी। शराब बंदी तो दूर हर घर में शराब स्टोर करवा दिया है। खूब पीओ और जीओ, पांच साल बाद तक तो तुम ऐसे गुलाम बन जाओगे कि तुम्हारा हाथ भी तुम्हारे काम नहीं आयेंगे।
चावल के बदले में धर्म परिवर्तन
धर्म किसी के रखैल नहीं है जो लोग परिवर्तन कर लेंगे। धर्म तो समस्त मानव, श्रृण्टि में विधमान है उसे कोई 5 किलो चावल के बदले कोई इंसान को उसका धर्म छोड़ने का कहता हो उसमें बड़ा अधर्मी कौन हो सकता है।
ऐसे भी एहसान के बदले भी किसी से उसका मूल अधिकार तो नहीं छिना जा सकता है। ये कौन सी बात हुई कि 5 किलो चावल देकर उसका धर्म परिवर्तन करवा दो। मानवता, प्रेम, स्नेह और त्याग का नाम है। किसी के मजबूरी देखकर उसको 5 किलो चावल दे देना और उसको कहना कि तुम धर्म परिवर्तन कर लो। ऐसे मदर टेरेसा ने भी कुछ ऐसा ही की थी। और मुफ्त में संत की उपाधि ले लिया जैसा गाँधी ने बापू की और नेहरू ने चाचा की।
अब लोकतंत्र खतरे में
5 राज्यों के चुनाव के बाद अब सारा दोष ईवीएम पर आने वाली है। यह तो वही वाली बात है मंदिर गए तो सप्रदायिक और मस्जिद गए तो धर्म निरपेक्ष। अब ईवीएम गैंग सक्रिय होने वाले है। ये ईवीएम भी बहुत वेदर्द प्राणी है। टांग तुरवाने के बाद भी एक कमजोर महिला मंदिर मंदिर धुम रही है, चंडी पाठ कर रही है लेकिन ईवीएम ने सारा मानवता को ताख पर रख दिया है और कमल पर वोट डलवाए जा रही है।
लेकिन एक बात और है अगर इस बार दीदी के टांग टुटने वाली रिक्रप्ट कामयाब रहा तो अगली बार थपड़ खाने वाले तो अरघी पर बैठकर वोट मांगेगे। लोकतंत्र में वोटतंत्र और नोटतंत्र का यही तो कमाल है। योगी जी बाहरी और रोहिंग्या अन्दर के मौसेरा और खलेरा भाई।
पतेकीबात : महंगाई का कीड़ा सिर्फ सब्जी मंडी और पेट्रोल पंप तक ही काम करते है पिज्जा बर्गर, डोमिनो, यह सब तो बहुत सस्ता है यह आलू से थोड़े ही बनता है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: