वार पंचायत में‌ मुखिया, वार्ड सदस्य व इंदिरा आवास सहायक की मिलीभगत से की जा रही व्यापक भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाया गया आवाज

औरंगाबाद: (अजय कुमार पाण्डेय) मदनपुर प्रखंड अंतर्गत पड़ने वाली वार पंचायत मुखिया, वार्ड सदस्य व इंदिरा आवास सहायक की मिलीभगत से इंदिरा आवास मे व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार करते हुए लूट मचाए जाने के खिलाफ लोगों ने आवाज उठाना शुरू कर दिया है! जो रफीगंज विधानसभा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व मदनपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी तक भी कुछ लोग द्वारा लिखित आवेदन देते हुए शनिवार को मामला पहुंचा दिया है! जिसमें मदनपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी ने गुहार लगाने वाला व्यक्ति को आश्वासन देते हुए भी कहा है कि मैं शीघ्र ही इस मामले में निष्पक्ष जांच कर दोषी लोगों पर नियमानुकूल तरीके से प्राथमिकी दर्ज कराते हुए गलत तरीके से इंदिरा – आवास में प्रथम किस्त का भुगतान किया गया राशि को सरकारी खाते में वापस लौटवाऊंगा! लेकिन अब देखना है कि इस मामले में दोषी जनप्रतिनिधि या इंदिरा – आवास सहायक पर विभागीय कारवाई क्या होती है? या न्याय की गुहार लगाने वाला व्यक्ति का आवेदन सिर्फ विभागीय फाइलों में ही सिमट कर रह जाता है? यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा! आवेदन कर्ता ने संवाददाता के समक्ष भी यह दावा करते हुए कहा है कि भ्रष्टाचार में संलिप्त मुखिया, वार्ड – सदस्य व इंदिरा – आवास – सहायक, तीनों की मिलीभगत से वार – पंचायत में खुलेआम एक इंदिरा आवास के लाभुक से 30,000 रुपया लिया जा रहा है! इसके अलावे आवेदन कर्ता ने दावा करते हुए यह भी कहा है कि वार – पंचायत में व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार में संलिप्त मुखिया, वार्ड – सदस्य व इंदिरा – आवास – सहायक तीनों की मिलीभगत से इंदिरा – आवास का लाभ भी सुखी संपन्न लोगों को ही दिया जा रहा है! जिनका पूर्व से पक्का का मकान बना हुआ है, परंतु जिस गरीब का मकान गिरा हुआ है! वैसे किसी भी गरीब लोगों को वार – पंचायत में इंदिरा – आवास का लाभ नहीं मिल रहा है! इसलिए वार – पंचायत में निष्पक्ष जांच होना आवश्यक है!

Please follow and like us:
%d bloggers like this: