विश्व मगही परिषद के अन्तरराष्ट्रीय मगही चौपाल के 77 वाँ बेबीनाॅर

*
“होली के रंग मगहियन के संग ” विषय पर काव्य गोष्ठी हुआ संम्पन ।

*होली के लोकरंग में सराबोर हुए सब मगहिया लोग -प्रो नागेंद्र नारायण ।

* विश्व मगही परिषद् का अंतरराष्ट्रीय विश्व सम्मलेन, दाउदनगर औरंगाबाद में, मई के प्रथम सप्ताह – अंतरराष्ट्रीय महासचिव प्रो नागेंद्र नारायण ।

विश्व मगही परिषद के बैनर तले अन्तरराष्ट्रीय मगही चौपाल के 77 वाँ” बेबीनाॅर ” “होली के रंग मगहियन के संग ” विषय पर काव्य गोष्ठी का आयोजन हुआ जिसकी अध्यक्षता विश्व मगही परिषद के अन्तरराष्ट्रीय अध्यक्ष डाक्टर भरत सिंह और मंच संचालन व् संयोजन प्रो नागेंद्र नारायण अंतरराष्ट्रीय महासचिव ,विश्व मगही परिषद् ने किया ।
मगही कवियों और मगही प्रेमी विद्वानों का स्वागत भारत के जाने – माने अर्थशस्त्री डॉक्टर दिलीप कुमार, नई दिल्ली और धन्यवाद ज्ञापन मगही साहित्यकार व् गीतकार श्री नरेंद्र प्रसाद सिंह जी ने किया । चौपाल की शुरुआत राजकुमार कवि जी की सरस्वती वंदना से हुआ ।
अन्तरराष्ट्रीय मगही चौपाल के 77 वाँ बेबीनाॅर में देश- विदेश से मगही कवि और मगही प्रेमी विद्वान लोगों ने भाग लिया । चंडीगढ़ से श्री हरेंद्र सिन्हा ,दुबई से संतोष कुमार और उत्तरांचल से डॉक्टर पुष्पा उपाध्याय , श्री दयानन्द गुप्ता नवादा से , जैनेन्द्र प्रसाद रवि ,जानल मानल हिंदी और मगही साहित्यकार श्री जयराम देवसपुरी नालंदा से मगही काव्यगोष्ठी में भाग लिये ।इनके अलावे मगही के वरिष्ठ कवि और साहित्यकार लखीसराय से राजेंद्र राज ,गीतकार नरेन्द्र प्रसाद सिंह, डा0 दिलीप कुमार , लालमणि विक्रान्त, रजौली नवादा से श्री पवन पण्डे जी ,मोकामा से आनंद शंकर जानल -मानल साहित्यकार श्री महेन्द्र प्रसाद देहाती अरवल से , गीतकार राजकुमार कवि जी भागलपुर से , , गया से जाने- मने साहित्यकार श्री कुमार कांत ,गौतम कुमार सरगम , आदि लोगों ने काव्य पाठ कर होली के रंग में सबको सराबोर कर दिया ।
प्रो नागेंद्र नारायण ,अंतरराष्ट्रीय महासचिव ,विश्व मगही परिषद् , नई दिल्ली ने बताया कि 77 वाँ बेबीनाॅर कार्यक्रम के माध्यम से मगही भाषा-साहित्य के महत्त्व के विश्व पटल पर बहुविध प्रसार केलिए बल मिलेगा । प्रो नारायण ने 77 वाँ बेबीनाॅर कार्यक्रम में विश्व मगही परिषद् के आगामी कार्यकर्मों के बारे में विशेष रूप से बताया और सब मगहिया विद्वदजनों से निहोरा किया कि विश्व मगही परिषद् के कार्यकर्मों में भाग लेकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें । विश्व मगही परिषद् का अंतरराष्ट्रीय विश्व सम्मलेन दाउदनगर औरंगाबाद में मई के प्रथम सप्ताह में होगा इसकी घोषणा भी अंतरराष्ट्रीय महासचिव प्रो नागेंद्र नारायण ने किया ।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: