जिलाधिकारी खीरी की अध्यक्षता में उप्र कौशल विकास मिशन की जिला स्तरीय कार्यकारिणी व प्रशिक्षण प्रदाताओं की हुई बैठक।

सर्वेश शुक्ला ब्यूरो

लखीमपुर खीरी 25 नवंबर 2021 : गुरुवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने उप्र कौशल विकास मिशन की जिला स्तरीय कार्यकारिणी समिति व प्रशिक्षण प्रदाताओं की मासिक समीक्षा बैठक ली।

बैठक की शुरुआत में जिला समन्वयक कौशल विकास, डायट प्राचार्य डॉ. ओपी गुप्ता ने बैठक की आवश्यकता व प्रासंगिकता बताई। ज़िले में 45 ट्रेंनिंग प्रोवाइडर्स सूचीबद्ध है। जिसमें 20 पुराने व 25 नए ट्रेनिंग प्रोवाइडर्स शामिल है।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम ने मौजूद ट्रेनिंग प्रोवाइडर से पूरे मनोयोग से अधिक से अधिक युवाओं को प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ने के लिए काम करें। आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष सभी ट्रेनिंग प्रोवाइडर्स बैच शुरू करते हुए युवाओं को गुणवत्तापरक प्रशिक्षण प्रदान करें। 40 फीसदी उपस्थिति होने पर प्रशिक्षुओं को 02 जोड़ी ड्रेस जरूर दी जाए। वहीं सभी ट्रेनिंग प्रोवाइडर्स सेंटर पर नामांकित प्रत्येक प्रशिक्षु की 70 फ़ीसदी उपस्थिति भी सुनिश्चित की जाए। वही प्रशिक्षण उपरांत उन्हें रोजगार से जोड़ने पर फोकस करें, जो भी युवा प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए यूपीएसडीएम डॉट जीओवी डॉट इन पर ऑनलाइन आवेदन करें। सभी प्रशिक्षणप्रदाता बेहतर प्रयास करके अच्छे परिणाम दे।

डीएम ने कहा कि ट्रेनिंग प्रोग्राम कागजों पर नहीं बल्कि जमीनी स्तर पर क्रियान्वित हो। ट्रेनिंग प्रोवाइडर्स से एक-एक करके बैच एवं ट्रेड की संख्या जानी। उन्होंने शिक्षार्थियों के एसेसमेंट एवं प्लेसमेंट की बारीकी से जानकारी ली। सभी ट्रेनिंग प्रोवाइडर अपने प्रशिक्षणार्थी के प्लेसमेंट पर फोकस कराएं। डाइट प्राचार्य डॉ ओपी गुप्ता ने कहा कि आज की बैठक में डीएम सर ने जो भी निर्देश दिए गए हैं उनका पूर्णतया अनुपालन कराया जाएगा। सभी ट्रेनिंग प्रोवाइडर्स शासन की मंशा के अनुरूप जमीनी स्तर पर ट्रेनिंग प्रोग्राम को क्रियान्वित कराए।

बैठक में सीडीओ अनिल कुमार सिंह, महात्मा गांधी नेशनल फैलोशिप अर्नवी सागर, 03 एमआईएस मैनेजर, सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: