fbpx

तो मोदी ने दे दिया घर बैठे पुण्य कमाने का अवसर।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना में गरीब का करवाएं रजिस्ट्रेशन।
काम वाली से लेकर रिक्शा चलाने वाले तक को मिलेगी पेंशन।
============
5 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात में प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन की जो योजना शुरू की है उससे सम्पन्न व्यक्ति अब घर बैठे पुण्य कमा सकता है। भारत की सनातन संस्कृति में गरीब की सेवा को ही ईश्वर की सेवा माना गया है। यदि एक दिन पूजा पाठ छोड़ कर अपने घर में काम करने वाले नौकरों का पंजीयन प्रधानमंत्री की योजना में करा दिया तो जिंदगी भर दुआएं मिलेगी। इन दुआओं से बड़ी बड़ी समस्या का समाधान भी हो जाएगा। मोदी ने श्रमिक वर्ग के लिए यह योजना लागू की है। उसमें नौकरी करने का कोई प्रमाण पत्र भी नहीं देना है। घरों पर काम करने वाली महिलाएं, रिक्शा चलाने वाले युवक, बाल काटने वाला नाई आदि भी शामिल हैं। असंगठित क्षेत्र के कोई 10 करोड़ श्रमिक को इस योजना का लाभ मिलेगा। 15 हजार रुपए से काम आय वाले श्रमिक इस योजना में जितनी राशि जमा कराएंगे उतनी ही सरकार भी देगी। यदि कोई श्रमिक 200 रुपए प्रतिमाह जमा करवाता है तो उसे 200 रुपए की राशि सरकार भी देगी। यानि उसकी बचत 400 रुपए प्रतिमाह हो जाएगी। 55 रुपए से लेकर 200 रुपए तक राशि जमा करवाई जा सकती है। योजना में 18 से 40 वर्ष के युवा भाग ले सकते हैं। साठ वर्ष की उम्र होने पर न्यूनतम तीन हजार रुपए की पेंशन संबंधित श्रमिक को मिलेगी। यदि 60 वर्ष से पहले व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो उसके परिजन को बैंक में जमा बचत का ब्याज भी मिलेगा। योजना में शामिल होने के लिए काॅमन सर्विस सेंटर पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके लिए सिर्फ जनधन खाते का अकाउंट नम्बर और आधार कार्ड की जरुरत है। इसके अलावा कोई दस्तावेज नहीं चाहिए। यहां ताक कि सेंटर पर रजिस्ट्रेशन का कोई शुल्क भी नहीं देना है। प्रत्येक रजिस्ट्रेशन पर सरकार की ओर से तीस रुपए का शुल्क सेंटर मालिक को दिया जाएगा। सेंटर मालिक अनिवार्य रूप से श्रमिक का रजिस्ट्रेशन करना ही है। अंशदान की पहली किश्त श्रमिक को नकद जमा करवानी है। इसके बाद प्रतिमाह जनधन खाते से अंशदान की राशि कट जाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस योजना में अधिक से अधिक श्रमिक शामिल हों, यह परिवार के मुखिया की जिम्मेदारी है। यदि एक मुखिया ने तीन-चार गरीबों को भी लाभ दिलवा दिया तो ईश्वर की कृपा बरसेगी। अब तक यह श्रमिक वर्ग पेंशन की सुविधा से वंचित था, लेकिन अब ऐसे श्रमिकों का भविष्य भी सुरक्षित होगा। मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से लेकर आयुष्मान भारत तक की योजना में शामिल किसी गरीब व्यक्ति को मोहताज नहीं होना पड़ेगा। इस योजना की और अधिक जानकारी टोल फ्री नम्बर 18002627888 पर ली जा सकती है।
एस.पी.मित्तल) (05-03-19)

Please follow and like us:
%d bloggers like this: