fbpx

थाने का चार्ज पाने के लिए इंस्पेक्टरों को अब SSP वैभव के इंटरव्यू में होना होगा पास

वतन की आवाज 03 फरवरी नोएडा मे लगातार बढ़ रहे क्राइम तथा खराब जनता की नजर मे पुलिस की छवि लगातार चिंताजनक बनी हुई है। इसी के मध्यनजर नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण लगातार पुलिस की छवि को सुधारने की दिशा में प्रयासरत है। इसी के चलते वे नित नए प्रयोगों को अमलीजामा भी पहना रहे हैं। पुलिस मिडिया से मिली खबर के मुताबिक खबर है कि एसएसपी वैभव कृष्ण थाने का चार्ज सौंपने से पहले इंस्पेक्टरों का इंटरव्यू लेंगे।

अगर ऐसा किया गया तो बाकई यह जनता के विश्वास जीतने के लिए एक बेहतरीन कदम साबित हो सकता है। हाल ही मे एस एस पी वैभव कृष्ण का नोएडा के कमान संभाले थे। उसी समय से लगातार सुर्खी मे है। अभी पिछले सप्ताह ही उन्होने तीन पुलिसकर्मी तथा पत्रकार को एक काल सेन्टर से रिश्वत लेते किया किया था। इस कारण से काफि चर्चा मे है।

जनता उनसे उम्मीद करती है कि प्रशासन व्यवस्था को ठीक करने और शहर मे चल रहे माफिया राज को समाप्त करने मे सफल होंगे ।
जानिये एस एस पी वैभव कृष्णा कौन है ?

1)वैभव कृष्णा 2009 मे आई पी एस मे चुने गए
2)मूलरूप से वैभव कृष्णा पश्चिमि उत्तर प्रदेश बागपत मे जिले के रहने वाले है।
3) 2009 मे उन्होने आई पी एस मे चुना गया और 2010 मे युपी कार्डर मिला।
4) 8 साल कि सर्विस मे उनके ऊपर को भी दाग नही लगा है।
5)इनकी पहली पोस्टींग जब गाजीपूर मे हुआ था उसी समय मंत्री कैलाश यादव के करीबी को मर्डर केस मे जेल भिजवा दिया था।
6) बताया जा रहा है कि जब उनकी पोस्टींग गाजीपूर मे हुआ उस समय वहाँ पर अपराध करने की ग्राफ मे काफि कमी आयी थी।
7)मंत्री के करीबी के गिरफ्तारी के बाद सुर्खियों मे तब आये जब उनका ट्रांसफर करवा दिया गया था।
8) वैभव कृष्णा मुरादाबाद के एस पी जीआरपी थे उस समय रेलवे मे होने वाले अपराध पर भी लगाम लगाया था।
9)अपने कार्यकाल मे कई बड़े अपराधी को पकड़ कर बड़ा खुलासा भी किया है।
10) उनके गाजीपूर से ट्रांसफर होने पर जनता ने सड़को पर भारी प्रदर्शन किया था।
11)बुलंदशहर मे भी उनका कार्यकाल ठीक रहा था।
12)बुलंदशहर मे तैनाती के दौरान एक गैंगरेप की घटना मे उन पर लापरवाही का आरोप लगा था।
13)वैभव कृष्ण मई 2016 मे बुलंदशहर की एसएसपी पद पर बहाली हुई थी।
14) आते ही उन्होने अपराधियों पर नकेल कसना शुरु कर दिया था।
15) कई बड़ी घटनाओं का खुलासा हुआ और शातिर बदमाश जेल भेजे गए।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: