ठेकेदार के अड़ियल रवैये से ‘वन’ ग्रामों में तेंदूपत्ता टार्गेट अधूरा



(शिवशंकर पाण्डेय जिला ब्यूरो)

बालाघाट।बीड़ी बनाने में उपयोग आने वाले पत्ते की आपूर्ति बालाघाट जिले से भारी मात्रा में की जाती है जिसको ठेकेदार के माध्यम से तुड़वाया जाता है।जिले में लगभग सभी सर्किल में पत्ते की तुड़ाई हो रही है।कहीं कहीं टार्गेट पूरा हो जाने के कारण इसकी तुड़ाई बंद भी हो चुकी है लेकिन वन ग्रामों में अभी भी अपने टार्गेट से तेंदूपत्ता की तुड़ाई बहुत पीछे है जिसका कारण स्थानीय लोग एवं पत्ते का देखभाल करने वाले मुंशी ठेकेदार को मानते है।प्राप्त जानकारी अनुसार सालेटेकरी,लालपुर,मछुरदा, कोमो,कुंडेकसा,धर्मशाला, गठिया, कोरका,बोनदारी सहित करीब एक दर्जन से अधिक ग्रामो में ठेकेदार के अड़ियल रवैये से तेंदूपत्ता तुड़ाई प्रभावित हो रहा है जिसको न तो ग्रामीण समझ पा रहे है और न ही पत्ते की देखभाल करने वाला मुंशी।जानकारी अनुसार ठेकेदार के द्वारा बार बार पत्ता तुड़ाई बंद करवा दिया जाता है जिससे पत्ते को तोड़ने वाले खासा नाराज है।बंद करवाने का कारण साफ तो नही हो सका लेकिन इसके पीछे का कारण पत्ते की क्वालिटी को लेकर बताया जा रहा है जिससे ठेकेदार बार बार पत्ते की तुड़ाई को बंद करवा रहा है।वही स्थानीय लोग व पत्ते की देखभाल करने वाले बताते हैं कि इस बार तेंदूपत्ता बहुत अच्छा है इसके बावजूद ठेकेदार का यह रवैया समझ के परे है।वही इस मामले पर बिरसा वनपरिक्षेञ अधिकारी का कहना है कि तेंदूपत्ता की गुडवत्ता को लेकर ठेकेदार यह कदम उठा रहा है।तेंदूपत्ता तुड़ाई में हो रही देरी को शीघ्र ही पूरा कर लिया जायेगा।अब इस मामले में कोई कुछ भी कहे लेकिन स्थानीय लोग इससे खासा नाराज हैं।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: