जीपीडब्ल्यूएस के पदाधिकारियों ने कुछ महत्त्वपूर्ण मुद्दों को लेकर बैठक की।

जीपीडब्ल्यूएस (गौतमबुद्धनगर पेरेंट्स वेल्फेयर सोसाइटी) के पदाधिकारियों ने कुछ महत्त्वपूर्ण मुद्दों को लेकर बैठक की। जिसमे शासन-प्रशासन द्वारा सरकारी आदेश आने के बावजूद निजी स्कूलो को फीस कम नहीं करने के लिए उन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। अब जीपीडब्ल्यूएस ने अभिभावकों की परेशानियों को अपीलीय प्राधिकरण को बताने का निर्णय लिया है।

जीपीडब्ल्यूएस के संस्थापक मनोज कटारिया ने बताया कि प्रशासन सरकारी आदेशों का पालन कराने में असमर्थ रहा हैं । स्कूलो ने विद्यार्थियों की ऑनलाइन कक्षाये बाधित कर रखी है जबकि जिला विद्यालय निरीक्षक ने 05.04.21 को आदेश (नंबर-01-02/2021-22/) निकाला था कि किसी भी आधार पर किसी भी विद्यार्थियों की ऑनलाइन शिक्षा को स्कूल बाधित नहीं करेंगे और दूसरा आदेश 20.05.21 को सुश्री आराधना शुक्ला उत्तर प्रदेश शासन [आदेश नंबर-11/2021/1040/15-7-2020-1(20)/2020] ने स्कूलो को दिया कि जब तक स्कूल बंद है तब तक अभिभावकों से क्रीड़ा,विज्ञान/प्रयोगशाला, कम्प्यूटर, वार्षिक फंक्शन इत्यादि गतिविधियों का शुल्क नहीं लिया जाए।

परन्तु सैकड़ों स्कूलो में से 5 या 6 स्कूल को छोड़कर कोई भी स्कूल इन आदेशों पालन नहीं कर रहे और प्रशासन भी इन आदेशों का पालन नहीं करवा पा रहे हैं। हम बार बार प्रशासन को संपर्क कर रहे हैं । अब जीपीडब्ल्यूएस ने आज की बैठक में अभिभावकों की पीड़ा अपीलीय प्राधिकरण को बताने का निर्णय लिया है ।

आज की बैठक में अध्यक्ष कपिल शर्मा, उपाध्यक्ष योगेश भगौर, महासचिव (आप्रेशन) सुखपाल सिंह तूर, कोषाध्यक्षा गीता विद्यार्थी, सहकोषाध्यक्ष विजय श्रीवास्तव, हरवीर सिंह, पल्लवी राय धर्मेंद्र नंदा, अनुपम कुमार सिंह, विकास शर्मा, दिग्विजय सिंह आदि उपस्थित थे।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: