नोएडा में आवारा कुत्तों का कहर, गाँव-गाँव और शहर-शहर

नोएडा में कुत्तों का आतंक लगातार बढता ही जा रहा है। गाँव गली को छोड़ भी दीजिए तो बड़े बड़े सोसायटी कुत्तों के दंश से परेशान है। आवारा और भूखे कुत्ते टु-व्हीलर चलाने वालों पर भी हमला करते है गाड़ी चालक कुते से भले ही बच जाते हो लेकिन दुर्घटना के शिकार हो जाते है। लेकिन नोएडा प्राधिकरण के स्वास्थ्य विभाग सिर्फ खानापूर्ति कर रहे है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में सुपरटेक इकोविलेज-1 में तीन-चार कुत्तों नें मिलकर एक छोटी सी बच्ची पर हमला कर दिया। मौके पर मौजूद सेक्यूरिटी गार्ड नें बच्ची की जान बचाया, लेकिन बच्ची के पैर में चोट आ गयी। इसके साथ ही बच्ची दहशत में है। सोसायटी में रह रहे परिवार में आक्रोश है और उसने प्राधिकरण के स्वास्थ्य विभाग से मांग किया है कि जल्द से जल्द सोसायटी से सारे आवारा कुत्तों को बाहर किया जाय। जब सुबह के 8 बजे में यह हालत है तो रात में क्या हालत रहता होगा, निश्चित तौर पर सोचकर भी डर लगता है।
यह मामला को पहली बार हुआ है ऐसा नही है इससे पहले भी नोएडा सेक्टर 120 आम्रपाली जोडियक से इस प्रकार की आवाज उठती रही है। दिनों दिन इनकी बढती संख्या और लाॅक डाउन में कुत्तों को भोजन नही मिलना भी एक कारण है। क्योंकि जब सब कुछ ठीक रहता है तो कुछ न कुछ खाने को मिल ही जाते है इन आवारा कुत्तों को लेकिन सब कुछ लाॅक डाउन होने से यह भी भूख के शिकार हो चुके है।

रात में डयूटी करके लौट रहे लोग अक्सर इन कुत्तों का शिकार हो रहे है। लोग आते जाते डरने लगे है खासकर महिला और बच्चे।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: