दिल्ली की तुलना में नोएडा के स्कूलो की फीस लगभग पैंतीस प्रतिशत ज्यादा है।

जीपीडब्ल्यूएस (गौतमबुद्धनगर पेरेंट्स वेल्फेयर सोसाइटी) ने एक ही स्कूल की नोएडा व दिल्ली स्थित शाखाओं के अभिभावकों से बात कर उनसे दोनों शाखाओं की फीस का तुलनात्मक अध्ययन करने पर पाया कि दिल्ली की तुलना में नोएडा के स्कूलो की फीस लगभग पैंतीस प्रतिशत ज्यादा है। और इस बड़े अन्तर की बात को नोएडा विधायक जी के द्वारा शिक्षा मंत्री तक पहुंचाने के लिए आज आग्रह किया है।

जीपीडब्ल्यूएस के संस्थापक मनोज कटारिया ने बताया कि काफी समय से हमारी टीम नोएडा और दिल्ली के स्कूलो की फीस की तुलना कर रहे थे विशेषकर नर्सरी कक्षा के प्रवेश के समय ली जाने वाली फीस की। क्योंकि हमारा अनुमान है कि नये सत्र (2022-23) में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की फीस लगभग चालीस प्रतिशत (40%) से अधिक बढ़ोत्तरी होगी।

परन्तु जब नोएडा विधायक श्री पंकज सिंह ने हम से दिल्ली और नोएडा के फीस का तुलनात्मक विश्लेषण मांगा तो हमारी टीम ने एक ही स्कूल की नोएडा व दिल्ली स्थित शाखाओं के अलग-अलग अभिभावकों से बात करने पर जानकारी प्राप्त हुई कि वर्तमान सत्र में जहां नोएडा के स्कूलो की औसतन फीस 1,20,000 रुपये प्रति वर्ष से अधिक है वहीं पर उसी स्कूल की दिल्ली शाखा की औसतन वार्षिक फीस 90,000 रुपये प्रति वर्ष से भी कम है।

फीस का यह अंतराल बहुत अधिक है । हमने नोएडा विधायक द्वारा उत्तर प्रदेश के शिक्षामंत्री को उचित फीस वसूल करने के कुछ सुझाव भी दिये हैं तथा स्कूलो की आर्थिक स्थिति का आकलन करने के लिए ऑडिट करवाने की मांग भी की है जिससे वर्तमान और नए प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की फीस का उचित निर्धारण हो सके। सरकार को इस पर सोचना चाहिए कि देश की राजधानी जो महानगरों में गिना जाता है उसके स्कूलो की फीस कम है तो नोएडा इतनी अधिक फीस क्यों ??

Please follow and like us:
%d bloggers like this: