देश को कंपनी राज बनाना बंद करो

दरभंगा(मुरारी झा)
बिरौल अनुमंडल में भाकपा माले, भाकपा और माकपा के नेता कार्यकर्ताओं ने देश भर में चल रहे ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन के समर्थन में मार्च आयोजित किया गया,जिसका नेतृत्व माले एरिया सचिव मनोज यादव,भाकपा अंचल मंत्री रघुनाथ झा और माकपा के रामचंद्र साहनी कर रहे थे ,मार्च डी एसपी कार्यालय से निकलकर अनुमंडल कार्यालय होते हुए,प्रखंड कार्यालय बिरौल और मनरेगा कार्यालय पर पहुंचकर सभा में तब्दील हुआ,मार्च के दौरान कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी नारा लगा रहे थे।
इस मौके पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए माले एरिया सचिव मनोज यादव ने कहा की मोदी शाह की जोड़ी मजदूर किसान सहित स्कीम वर्कर्स,ठेका मानदेय पर काम करने वालो के लिए काफी खतरनाक है, मजदूरों के अधिकार को अतिक्रमण करने के लिए चार श्रम कोड़ लाकर अधिकार से वंचित करना चाहती है वही ,आशा रसोइया,पशु टीकाकर्मी सहित अन्य को बंधुआ मजदूर समझने की भूल कर रही है,
श्री यादव ने कहा की मजदूरों को गुलाम बनाने वाले चार श्रम कोड़,वापस लेने सहित ठेका मानदेय,और संविदा कर्मी को पैरामानेंट करने का योजना बनाए सरकार अन्यथा संबिदाकर्मी और मजदूरों का आंदोलन उग्र होगा।
सभा को रघुनाथ झा ने संबोधित करते हुए कहा की प्रस्तावित बिजली बिल अधिनियम 2020 लाकर सरकार उपभोगताओ को लूट कर कंपनी के हवाले कर देना चाहती है,वही गरीब भूमिहीनों को उजारने की प्रक्रिया तेज हुआ है जिसपर रोक लगाया जाए।
वही माकपा के रामचंद्र साहनी ने मोदी शाह के जोड़ी को गरीब मजदूर किसानों सहित ठेका मानदेय कर्मी के लिए खतरनाक बताया,सभा को बैंक के मुखिया सह खेत मजदूर सभा के प्रखंड सचिव बिसंबर पासवान ने कहा की मनरेगा मजदूरों को 200 दिन काम और 600 रू मजदूरी के नाम पर आनाकानी लगातार जारी है,अगर जल्द मजदूरों को रोजगार उपलब्ध नहीं करवाया गया तो मजदूर इस बाबत एसडीओ कार्यालय पर प्रदर्शन के लिए बाध्य है।कार्यकर्म को अशरफी दास, पाबिया देवी,राधे साहू,पलटन मांगी,कैलाश सदा,जितेंद्र सदा,अंसुइया देवी ,लालबहादुर सदा सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: