सिंधु जा मिश्रा के जन सम्पर्क ने मतदाताओं का मन बदला

|

विश्वनाथ त्रिपाठी
समाज जागरण

प्रतापगढ़ | कुंडा विधान सभा सीट की लड़ाई धीरेधीरे त्रिकोणीय होती जा रही है | तीस वर्षों से इस सीट पर काबिज राजा भैय्या को सबक सिखाने के लिए समाज वादी प्रमुख अखिलेश ने राजा के खेमे मे कभी मजबूत हाथ रहनेवाले बागी गुलशन यादव को चुनाव मैदान मे उतार कर अनी खीझ मिटाने चाहते है वही भारतीय जनता पार्टी का तेज हुआ जन सम्पर्क अभियान भी मतदाताओं को अपनी ओर खींचने मे सफल दिखाई दे रहा है |
सिंधु जा ब्रआह्मण परिवार से संबंध रखने और स्थानीय संबंध होने के कारण इसबार मजबूती से चुनाव मैदान मे है | कही कही इनको अपमानित करने का प्रयास उन लोगो के लिए हानिकारक साबित हो रहा है ज़ो अपना वर्चस्व क्षेत्र मे कायम रखने का दावा कर रहे हैं | निर्भीक स्वभाव वाले सिंधु जा के पति शिव प्रकाश सेनानी चुनाव की कमान मजबूती से सम्हाल चुके है | अपने चुनावी क्षेत्र मे जन जन तक पहुँच कर सरकार द्वारा जनता को दिए गये लाभ व जन हित मे किए गये कार्यो को बता कर अपने को जिताने की अपील करते हुए कुंडा के विकास का दावा भी कर रहे है | बिना किसी का नाम लिए सिंधु जा का कहना है कि यदि भाजपा जीतेगी तभी कुंडा मे अमन शांति बहाल होगी | उनका कहना है कि जनता बदलाव के पक्ष मे है और मतदाता भी साइलेंट है मतदाता की यही चुप्पी कुंडा नया इतिहास लिख सकती है |
अभी तक कुंडा व बाबा गंज मे केवल सपा और जसत्तादल का ही मुकाबला माना जाता था लेकिन भाजपा के डोर टू डोर जन सम्पर्क त्रिकोणीय संघर्ष की भूमिका मे आ गया है| सिंधु जा का मानना है कि भाजपा का कोर वोटर अपनी जगह मजबूती से खड़ा हैं और वह आम मतदाता को सरकार के काम के बल पर भाजपा के पक्ष मे मतदान के लिए तैय्यार कर रहा है |
वैसे देखा जाय तो सपा मे केवल यादव मतदाता ही अब रह गये है शेष उनसे पल्ला झाड़ चुका है इसका एकमात्र कारण सपा के लोगो के बिगड़े बोल ही कहा जा सकता है |

Please follow and like us:
%d bloggers like this: