समाजवादी पार्टी नें आदिम समाज पार्टी को दिया धोखा, टूटा गठबंधन

समाजवादी पार्टी और आदिम समाज पार्टी का टूटा गठबंधन
संजय मिश्रा समाज जागरण ब्यूरो चीफ चित्रकूट
आदिम समाज पार्टी व समाजवादी पार्टी का 25 अक्टूबर 2021 को गठबंधन हुआ था, जिसमे आदिम समाज पार्टी की तर
फ से 16सीटों का जिक्र किया गया था,अंततः बाद में 5 जिला 5 सीट पर व एक एमएलसी के लिए बात कन्फर्म हो गई और एक साथ मिलकर चुनाव लड़ने के लिए तैयारी बनने लगी, बाद मे आदर्श अचार संहिता लगने के बाद बीजेपी में भगदड़ मच गई और बीजेपी के कई नामी गिरामी मंत्री व विधायक सपा में शामिल हो गये, इसके बाद सपा के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हुआ कि अब सपा की सरकार बनना तय हैं तो उन्होंने छोटे छोटे दलों को दरकिनार करना शुरू कर दिए, पहले भीम आर्मी चंद्रशेखर आजाद की बाहर किये,
इसके बाद आदिवासियों की छोटी पार्टी आदिम समाज की भी बात बिगड़ती दिखने लगी तो 16सीटों से सिमटकर 3सीटों पर बात आ गई,
मानिकपुर 237, बारा 264 कोरांव 265
इन सीटों पर बात आ गई,
लेकिन अहंकार पनप रहा था तो आदिम समाज पार्टी से भी मुँह मोड़ लिया गया,और कुछ चाटुकार नेताओं के नेताओं के चलते गठबंधन को ख़तम कर दिए जिससे आदिवासियों में खासा रोष व्याप्त हैं, की आदिवासियों का अपमान किया गया हैं,
आदिम समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपूजन कोल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि पार्टी अपने दम पर 45 सीटों पर चुनाव लड़ेगी,

अभी बाबू सिंह कुशवाहा कि पार्टी, और ओवैसी पार्टी, वामन मेश्राम की पार्टी से गठबंधन होने जा रहा हैं आज दिनांक 31जनवरी को लखनऊ मे प्रेस कांफ्रेस होगा इसके बाद कन्फर्म होगा, गठबंधन के बाद भी आदिम समाज पार्टी 10 सीटों पर चुनाव पूरी दम ख़म के साथ लड़ेगी
देखा जाये तो कइयों विधानसभा में आदिवासियों की संख्या बहुतायत हैं,जैसे -मानिकपुर, बारा, कोरांव, मडीहान, छानबे, ओबरा, दुद्धि, घोरावल, मझवा, चकिया
इन विधानसभाओ पर आदिम समाज पार्टी चुनाव लड़ेगी तो इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा,

Please follow and like us:
%d bloggers like this: