दो वर्षों से अप्रशिक्षित शिक्षकों का वेतन लंवित, 23 मार्च से होगा पटना में धरना प्रदर्शन ।

पटना (बिहार प्रभारी आर.के.पांडेय)बिहार प्रदेश प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश प्रवक्ता मशकूर आलम ने कहा कि हमने 7 फरवरी को मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, प्रधान सचिव शिक्षा विभाग बिहार, निदेशक प्राथमिक शिक्षा विभाग बिहार को अप्रशिक्षित शिक्षकों के दो वर्षों से लंवित वेतन भुगतान को लेकर आवेदन हस्तगत कराया था। पत्र के माध्यम से दो वर्षों से वेतन भुगतान नहीं होने से उनके परिवार के समक्ष उत्पन्न स्थिति से रुबरु कराया था। हमने आवेदन में कहा था के दो वर्षों से वेतन भुगतान नहीं होने के कारण परिवार के लोग दाने दाने को मोहताज हो रहे हैं, शिक्षक एवं उनके परिवार के सदस्य और उनके छोटे छोटे नौनिहाल बच्चे गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं लेकिन पैसे के अभाव में उनका समुचित इलाज नहीं हो पा रहा है। कुछ शिक्षक और उनके परिवार के सदस्य आर्थिक तंगी के कारण मौत को गले लगा चुके हैं और कुछ मरनासन्न की स्थिति में है। परिवार का भरण-पोषण करने के लिए शिक्षकों के समक्ष भीख मांगने की स्थिति उत्पन्न हो गई है।
वहीं संघ के प्रदेश मीडिया प्रभारी मृत्युंजय ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री से हमने कहा कि आप बिहार के राजा के गद्दी पर आसीन हैं और हम लोग आपकी प्रजा हैं, कैसे एक राजा अपने प्रजा के समक्ष दुखों का पहाड़ खड़ा कर सकता है। जबकि एक राजा का कर्तव्य होता है अपने प्रजा के भलाई के लिए हमेशा कार्य करते रहना और जब राजा कठोर हो जाता है तो प्रजा अपने हक और हुकूक के लिए आंदोलन करती है।
हम बिहार के सभी नियोजित शिक्षकों से अपील करते हुए कहा अपने हक़ और हुकूक की लड़ाई में अपना योगदान अवश्य दें ताकि उन्हें न्याय मिल सके। उनके हक़ और हुकूक की लड़ाई के लिए पटना के गर्दनीबाग धरना स्थल पर 23 मार्च से लेकर 26 मार्च तक विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया है, उक्त तिथि को धरना स्थल पर पहुंच कर धरना प्रदर्शन को सफल बनायें।
संघ के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष नवलकिशोर सिंह ने कहा कि हमारा संघ अप्रशिक्षित शिक्षकों के मांगो की पूर्ति होने तक संघर्ष जारी रखेगा। सरकार यथाशीघ्र अप्रशिक्षित शिक्षकों के दो वर्ष से बकाये वेतन भुगतान, सेवामुक्त अप्रशिक्षित शिक्षक को पुनः सेवा मे बहाल करने एवं पूरक परीक्षा आयोजित करने का आदेश जारी करे अन्यथा हम इस धरना-प्रदर्शन के बाद अन्य आंदोलन करना जारी रखेंगे।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: