*ईद से पहले मिले सभी शिक्षकों का वेतन- सलाउद्दीन*

*मुरारी झा*

दरभंगा प्रारंभिक शिक्षक संघ मूल की बैठक बिरौल में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता शिक्षक संघ मूल के अनुमंडलीय अध्यक्ष सलाउद्दीन कमर ने किया। सभा को संबोधित करते हुये शिक्षक सुशील कुमार ने कहा कि शिक्षकों को समय से वेतन मिलना चाहिए। समय पर वेतन मिलने से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगी।
शिक्षक चिंतामुक्त होकर अपनी सारी ऊर्जा पठन पाठन में लगा सकेगा। शिक्षक संघ मूल के संयोजिका रिपु रानी ने कहा कि सरकार तो वेतन देती ही है पर समय से नहीं मिलने के कारण शिक्षक अपने परिवार और घर-गृहस्थी चलाने को लेकर चिंतित रहते है।

शिक्षक सीमा कुमारी चिंता व्यक्त करते हुये कहा कि अधिकांश शिक्षक अपने गृह जिला से दूर दूसरे जिला में योगदान लिया है। वहाँ वह किराये पर रूम लेकर रहते है। नये होने के कारण सभी आवश्यकता के समान नगदी खरीदना होता है। मकान मालिक महीना लगते किराये की मांग करने लगाते है। ऐसे स्थिति में अगर समय पर वेतन नहीं मिलता है तो स्थिति भयावह हो सकती है। डाँ. एस. बालक ने कहा कि दूसरे विभाग की तरह बिहार सरकार भी शिक्षको को वेतन देने का एक तिथि तय करें। यह तिथि एक से दस के बीच में हो। समय पर वेतन मिलने से शिक्षकों के समस्याओं का समाधान हो जायेगा। अध्यक्षीय भाषण करते हुये सलाउद्दीन कमर ने कहा कि नौकरी में रहते हुये भी शिक्षक अपने परिवार के साथ खुशी पूर्वक पर्व त्योहार नहीं मना पाते है। ऐसे नौकरी का क्या औचित्य जब समय पर वेतन ही न मिले। ईद से पहले शिक्षकों का वेतन हर हाल में मिल जाना चाहिए। नवनियुक्त शिक्षकों को और अधिक वेतन की जरूरत है। ईद से पहले सभी तरह के शिक्षकों का वेतन नहीं मिलता है तो संघ आगे की रणनीति पर कार्य करेगा।
धन्यवाद ज्ञापन करते हुये प्रभारी शिक्षक लालो मोची ने कहा कि पंचायत प्रारंभिक शिक्षक संघ मूल सदैव शिक्षक के हीत में कार्य करते रहे है। शिक्षको का वेतन कोई तोफा नहीं है। यह उनका मेहताना है। मीडिया वाले शिक्षक के वेतन को तोफा कहना बंद करें। समय पर वेतन मिलना उनका संवैधानिक अधिकार है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: