fbpx

प्रयागराज कुम्भ-2019

प्रयागराज कुम्भ-2019

10-20 बच्चे पैदा करने के बजाए एक ऐसा शूरवीर पैदा करो जो सूर्य और चाँद की भांति पूरी दुनिया को प्रकाशित कर दें।

मैं तो सभी जातियों का हूँ जो अज्ञान को दूर करें वो ब्राह्मण, जो अन्याय को दूर करें वे क्षत्रिय, जो अभाव को दूर करें वैश्य, जो अपवित्रता को दूर करें वो शूद्र हमारे भीतर सबकुछ है।

साधु, संत, महात्मा ये चलते फिरते तीर्थ होते हैं और बापू हमारे महातीर्थ हैं ऐसे समर्थ्य गुरु का आश्रय हम सब के लिए बहुत बड़ी प्रेरणा है उनका होना ही मन का धर्म है, राष्ट्र है, संस्कृति है वो राष्ट्र के अस्मिता है।

संन्यासी के भीतर कुछ कुशलताएँ होनी चाहिए। संन्यासी के जीवन में यदि हुनर नहीं होगा, कुशलताएँ नहीं होंगी तो उस संन्यासी के द्वारा इस जगत का कोई उपकार नहीं हो सकता। और संत यदि परोपकार नहीं करेगा तो संसार तो स्वार्थ में डूबा हुआ है।
स्वामी रामदेव

स्वामी रामदेव जी सिर्फ भारत के ही नहीं सम्पूर्ण विश्व के एक अनमोल रत्न हैं।
लोकेश मुनि जी महाराज

योग को पूज्य योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज ने जन-जन तक पहुँचाया और सम्पूर्ण भारत की ओर देखने का लोगों का दृष्टिकोण बदल दिया।
गोविन्द देव गिरी जी महाराज

Please follow and like us:
%d bloggers like this: