अवैध अतिक्रमण का शिकार नोएडा फेज-2 बस स्टैण्ड

समाज जागरण नोएडा

नोएडा प्राधिकरण प्राधिकरण के लाख कोशिशों के बाद भी स्मार्ट सिटी नोएडा में रेहड़ी पटरी वालों को अवैध अतिक्रमण बढते ही जा रहे है। जहाँ एक तरफ कुछ वेंडर को लाइसेंस देकर बसाये और उजाड़े जा रहे है वही दूसरी तरफ अवैध वेंडर पूरे शहर में अपना कब्जा जमाये बैठे है। लगता है नोएडा प्राधिकरण के द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान कागज पर कुछ ही वेंडरों के लिए बनाये जाते है और वह भी शाम होते होते निरस्त कर दिए जाते है।

ठेली पटरी के जगह लगातार फुड बैन का कब्जा होने से वर्षों से ठेली पटरी लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करने वालों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है वही दूसरी तरफ नित्य नये वेंडर शहर को अतिक्रमण करने को तैयार बैठा है। बहुत सारे दुकान तो मानों किसी बड़े बड़े रसूख के है जो इन वेडरों से किराया वसूलते है। संभवत: इनका कुछ हिस्सा एरिया के सर्किल आफिसर और दूसरे महकमें मे भी दिये जाते होंगे। यही कारण है कि अतिक्रमण घटने के बजाय बढ़ते ही जा रहे है।

नोएडा फेज-2 के बस स्टैण्ड को ही आप ले लीजिए। यहाँ पर मिठाई के शोरूम है वह भी बस स्टाप पर। इसके साथ ही आपको यहाँ पर पान बीड़ी सिगरेट और नमकीन पानी भी मिल जायेंगे। यह तो प्राधिकरण ही बता पायेगा की पान बीड़ी सिगरेट बेचने का लाइसेंस दिया गया है या नही। शहर में हजारों की संख्या में पान की दुकान है जिस पर पान नही है बांकि बहुत कुछ है। जबकि उत्तर प्रदेश शासन के द्वारा गाइडलाइन्स जारी किया गया था कि जो सिगरेट बीड़ी गुटखा बेचेंगा उसके लिए लाइसेंस अनिवार्य होगा। दूसरे सबसे महत्वपूर्ण बात वहाँ पर खाने पीने के दूसरे सामान नही बेचे जायेंगे। लेकिन फेस-2 की बस स्टाप पर खुले मिठाई के दुकान में ही पान बीड़ी सिगरेट की दुकान है। नास्ता और नशा एक साथ में।

उदाहरण के लिए नोएडा सेक्टर 27, सेक्टर 18 सेक्टर 29, नोएडा सेक्टर 100 रेड लाइट फेज-2 बस स्टैण्ड, नोएडा सेक्टर 110 की मार्किट। ऐसी तमात सारे जगह है जहाँ पर अवैध वेंडरों नें कब्जा जमाकर बैठा है।

नोएडा फेज-2 बस स्टाप पर बने अवैध मिठाई की दुकान

Please follow and like us:
%d bloggers like this: