नोएडा : शिकायत मिली तो ओएसडी होंगे जिम्मेदार, सीसीटीवी से दलालों पर रहेगी नजर

नोएडा समाज जागरण

प्राधिकरण में बैठे कुछ लोग लोगों के समस्या को सुलझाने के बजाय दलालीगिरी करते है। अब इन पर शिकंजा कसने की तैयारी है। इन पर तीसरी आँख से नजर रखी जायेगी। नोएडा प्राधिकरण के सीओ नें ऋतु महेश्वरी अपने ईमानदारी छवि के कारण जानी जाती है, लेकिन हाल के दिनों में लगतार शिकायते मिलती रही है। खासकर वेंडिंग जोन से संबंधित। कुछ दिन पहले ही रेह़ड़ी पटरी संचालक वेलफेयर एसोसिएशन में मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौप कर बड़े धांधली के आरोप लगाया था।

लगतार 2019 से मांग होते रहे है कि सभी टाउन वेंडिंग कमेटी के सदस्यों का एसआईटी जांच होनी चाहिए। कुछ दिन पहले ही एक विडियों वायरल हुआ था जिसमें एक व्यक्ति जो कि वकील के ड्रेस में दिखाई दे रहा है उससे ठेली खोमचे वाले अपना पैसे मांगते नजर आ रहे है। जबकि वह व्यक्ति यह कह रहा है कि मै तुम्हारा काम करवा दूंगा, नही होने पर पैसे वापस दूंगा। इसका साफ-साफ मतलब है कि प्राधिकरण में कुछ लोग बैठे है जो कि ऐसे लोगों की मदद पैसा लेकर करते है।

अब ऐसे लोगों पर नकेल कसना अति-आवश्यक हो चुका है। इसी के मध्यनजर सीओं का यह कदम सराहनीय है। लेकिन अगर यह लोग कार्यालय के बाहर भी यही काम करते है तो उस पर कैसे रोक लगे इस पर भी विचार करना अति-आवश्यक है।

अब ऐसे लोगो पर नजर रखने के लिए प्राधिकरण के हर दफ्तर मे कोने कोने में कैमरे से नजर रखी जायेगी। प्राधिकरण में 50 स्थानों पर कैमरे लगायी जायेगी। अभी तक 20 स्थानों पर कैमरे लग चुके है, और 30 स्थानों पर कैमरे जल्द ही लगा दिये जायेंगे। सीओं नें बताया की अगर कोई दलाल मिलता है तो इसके लिए ओएसडी जिम्मेदार होेगे। कैमरे लगने से बाबुओं के कार्यप्रणाली मे भी सुधार आयेगा। नियोजन विभाग में एक को पकड़े जाने पर अब प्रवेश को लेकर सख्ती बरती जा रही है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: