नोएडा प्राधिकरण नें 4139 वेंडरों को किया वेंडिंग जोन में व्यवस्थित

नोएडा 23 अगस्त 2021 समाज जागरण संवाददाता

नोएडा वेंडिंग जोन की मामला लगातार सुर्खियों में रहा है। प्रयागराज उच्च न्यायलय से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय तक वेंडर की गुंज को अब तक अनदेखी का आरोप लगता रहा है। इसी बीच आईजीआरएस 60000210102780 से मांगी गयी जबाब में प्राधिकरण नें 4139 वेंडर को वेंडिग जोन में स्थान देने की बात स्वीकार किया है। जबकि प्राधिकरण को अभी तक 7184 फार्म प्राप्त हुए है। इसके अलावा माननीय न्यायलय के शरण में गए वेंडर की संख्या भी लगभग दो हजार के करीब है।

नोएडा प्राधिकरण के द्वारा दिए गए जानकारी के अनुसार प्राधिकरण को अभी तक 7184 वेंडर के फार्म मिले है। जबकि सत्यापित वेडर की संख्या 4641 है। प्राधिकरण के पास अभी तक उपलब्ध स्थान है 4932 वेंडर के लिए जिसमें से 4139 वेंडर को जगह का आवंटन कर दिया गया है। 265 वेंडर शेष है जिनका आवंटन होना है। आवंटन हेतू वेंडर जोन में जगह 793 बचे हुए है।

जिसमें से वर्क सर्किल 01 में 1116, वर्क सर्किल 02 में 487 , सर्किल 03 में 407, सर्किल 04 मे 498, सर्किल 05 में 535, वर्क सर्किल 06 में 150, वर्क सर्किल 07 में 144, वर्क सर्किल 08 में 168 और वर्क सर्किल 09 में 124 वेंडर को व्यवस्थित किया गया है। इसके अलावा माननीय न्यायलय के निर्देशों के अनुपालन वर्क सर्किल 01 से वर्क सर्किल 06 एवं 08 व 09 में 152 वेंडर को व्यवस्थित किया गया है।

आवंटन हेतू 265 वेंडर शेष रहा है जबिक प्राधिकरण के अनुसार ही 7184 वेंडर नें फार्म अप्लाई किया है। जिसमें से 4139 वेंडर को व्यवस्थित किया गया है। कुल मिलाकर लगभग 3 हजार से ज्यादा वेंडर अभी भी इंतजार में है जिनको वेंडिंग जोन दिया जाना है। प्राधिकरण के पूर्व सीओं आलोक टंडन के द्वारा माननीय न्यायलय में दिए गए हलफनामें में कुल वेंडर की संख्या 8154 बताया गया था लेकिन वर्तमान यह घटकर 7184 हो चुका है।

इसके अलावा 2 हजार से ज्यादा वेंडर नें कोर्ट केस करके अपना अधिकार सुरक्षित करने की मांग किया हुआ है, जिसमें से कुछ को दिया गया है और कुछ बांकि है। अगर कुल संख्या देखे तो लगभग 9 हजार से ऊपर की आकड़ा सामने है। जबकि अगर पूरे नोएडा में सर्वे किया जाय तो 20 हजार से ज्यादा वेंडर पाया जायेगा। यानि की बहुत सारे वेंडर अभी भी इस प्रक्रिया से अंजान है या फिर सांठगांठ करके काम चला रहा है। अकेले सेक्टर 45 नोएडा सोमबाजार में ही 500 से ज्यादा वेंडर मौजूद है।

नोएडा प्राधिकरण के व्यवस्थित करने में भी नियम का पालन नही करने को लेकर आवाज उठने लगी है। नोएडा सेक्टर 135 और नोएडा सेक्टर 51 वेंडिंग जोन ऐसी जगह बनायी गयी है जहाँ कोई आता जाता ही नही हो। जबकि नियम के अनुसार 2.5 % लोगों का वहाँ पर आना जाना होना चाहिए। इसके अलावा सेक्टर 51 में वेंडिंग जोन के पास ही नोएडा का सबसे बड़ा नाला है। जो कि वेंडर के लिए और वहाँ पर जाने वाले ग्राहक के लिए सुरक्षित नही है। एक तरफ जहाँ नोएडा में सेक्टर तथा अपार्टमेंट में दुकान के सामने ही दुकान वालों नें स्वयं का दुकान लगवा रखा है। जो कि खुलेआम एक अतिक्रमण है। अगर ऐसे ही दुकान चलते रहे तो वेंडिंग जोन जो कि जंगल में है वहाँ कौन जायेगा।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: