एनसीईआरटी को ठेंगा, मनचाहे प्रकाशक का महंगा कोर्स मंगा रहे निजी स्कूल


सर्वेश शुक्ला समाज जागरण लखीमपुर खीरी जनपद में निजी स्कूलों की मनमानी के आगे प्रशासन बेबस नजर आ रहा है, यही कारण है कि सरकार के नियमो का उलंघन कर अवैध कमाई के लिए स्कूल प्रबंधन ने अभिभावकों को खुलेआम लूटने का काम शुरू कर दिया है। विभिन्न कक्षाओं के कोर्स पर मनचाहा रेट लिखवाकर अभिभावकों को 10 गुनी ज्यादा कीमत पर बेचा जा रहा है।खास बात तो ये है कि वे प्रकाशक भी और बुक सेलर भी अप्रत्यक्ष रूप से स्कूल प्रबंधन का हिस्सा है, यही कारण है कि इन निजी स्कूलों का कोर्स उनकी खास दुकानों पर ही मिलेगा।आसान भाषा मे कहे तो एनसीईआरटी की किताब के साथ एक और किताब उसी विषय की बच्चे को अतिरिक्त खरीदनी होगी। अब एक ही विषय की दो किताबे बच्चे को खरीदने का साफ मतलब है कि अभिभावकों की जेब पर डांका।
यदि अन्य कोई बुक सेलर उक्त प्रकाशक की किताबें बेचना चाहे तो उसे प्रकाशक द्वारा स्पष्ट रूप से इंकार कर दिया जाता है। मतलब साफ है कि स्कूल प्रबंधन, बुक सेलर और प्रकाशक द्वारा एनसीईआरटी के नियमों का उलंघन करते हुए कोर्स पर मनचाहा रेट प्रिंट कराकर महंगे दामों में कोर्स बेंचा जा रहा है। अभिभावक संघ लगातार स्कूलों की मनमानी का विरोध कर रहा है। तमाम शिकायतों के बाद भी जिला प्रशासन ने इन बुक सेलर की जांच करने तक की हिम्मत नही जुटा पाई है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: