मनरेगा माफियाओं को मिली छूट बाबागंज ब्लांक में मची लूट

बाबागंज खंड विकास अधिकारी पर मनमानी का आरोप
समाज जागरण
विश्वनाथ त्रिपाठी
प्रतापगढ़

प्रतापगढ़।बिकास खंड बाबागंज में खंड विकास अधिकारी जितेंद्र कुमार यादव द्वारा सरकारी धन का दुरूपयोग का आरोप लगाया जा रहा है।बाबागंज ब्लाक के अन्तर्गत बिभिन्न गांव में 200 मनरेगा श्रमिकों का एमआर जारी कर दिया गया है,लेकिन धरातल पर एक भी लेबर नहीं है।

शासन द्वारा जारी मनरेगा गाइड लाइन के अनुसार मनरेगा श्रमिक हाजिरी NMMS पर नहीं दर्ज हो रही है, जबकि परियोजना पर संचालित मनरेगा कार्यों पर 20 या 20 से अधिक लेबर से कार्य कराने पर NMMS पर दर्ज करना अनिवार्य है।जिन ग्राम पंचायतों में 20 या 20 से अधिक श्रमिक एक परियोजना पर कार्य कर रहे होगें वहां हारदिन प्रथम पाली और द्वितीय पाली में NMMS से हाजिरी लगाई जानी चाहिए। 20 या 20 से अधिक एक परियोजना पर कार्य कर रहे श्रमिकों की हाजिरी अगर NMMS से नहीं करी जा रही होगी तो ऐसे परियोजनाओं के भुगतान के उपरांत उपरोक्त परियोजना में हुए भुगतान की रिकवरी और अनुशासनिक कार्यवाही किए जाने के भी निर्देश निर्गत किए गए हैं,जबकि ऐसे निर्गत मस्टररोल को शून्य पर फीड कराते हुए भुगतान निरस्त करने का भी निर्देश शासन से जारी किया गया है।

खंड विकास अधिकारी जितेंद्र कुमार यादव द्वारा बाबागंज ब्लाक अन्तर्गत मनरेगा योजनान्तर्गत सरकार के धन का दुरूपयोग करवाना चर्चा का विषय बना हुआ है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: