fbpx

संदेश

संदेश

किसी देश मे एक राजा राज्य करता था एक बार जब वह बीमार पड़ा तो उसके उपचार के लिए दूसरे देश से एक प्रसिध्द वैध को बुलवाया गया । उस वैध ने आपका से राजा बिल्कुल ठीक हो गया परंतु मंत्री ने राजा से कहा विदेशी वैध ने आपका रोग दूर कर दिया है। लेकिन हो सकता है। कि वह आपको कोई फूल आदि सुघाकर आपकी जान ले ले ।

राजा अपने मेत्री के बात मे आ गया उसने तय किया कि वैध को मृत्युदंड दे देना चाहिए राजा ने उस वैध को दरबार मे बुलाकर कहा हमे पता चला है कि तुम दूसरो देश के जासूस हो और मेरी जान लेने के लिए यहां आए हो अत: मेरा आदेश है कि तुम्हें मृत्युदंड दे दिया जाए
वैध ने गिड़गिड़ाते हुए कहा महाराज अगर मे दूसरे देश के जासूस होता या मेरे मन मे कोई दुर्भावना होती तो मै आपको तभी हानि पहुचा सकता था जब आपका उपचार कर रहा था।

राजा ने वैध के बात पर कोई ध्यान नही दिया जब वैध को पक्का विश्वास हो गया कि राजा उसकी हत्या करके ही मानेगा तो वह बोला महाराज मेरे पास एक पुस्तक है जो मै आपको भेंट करना चाहता हूं कृपया मरी हत्या से पहले वह पुस्तक आप अवश्य पढ़ ले

फिर वैध ने आपने थैले से एक पुस्तक निकालकर राजा को दे दी उस पुस्तक मे जहर लगा था राजा पुस्तक पढ़ने लगा अभी उसने कुछ ही पन्ने पढ़े थे कि उसकी हालत बिगड़ने लगी
तब वैध ने कहा महाराज अगर आप मेरी हत्या करने की जिद न करते तो आपकी यह हालत नही होती।

राजा ने अपने विवेक का प्रयोग न करके अवश्य उस वैध पर संदेह किया जिसके फलस्वरुप उसे अपनी जान गंवानी पड़ी।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: