धार्मिक कटुता फैला रहे है मदनपुर थानाध्यक्ष , थानाध्यक्ष के कुकृत्य से कलंकित हो रहा है मदनपुर का सौहार्द्र ।

औरंगाबाद ( अजय कुमार पाण्डेय) रफीगंज विधानसभा क्षेत्र के पूर्व निर्दलीय प्रत्याशी सह समाजसेवी प्रमोद कुमार सिंह ने कहां है कि औरंगाबाद जिला अंतर्गत मदनपुर में मदनपुर थानाध्यक्ष द्वारा खुद के ब्यान पर आई0टी0 एक्ट के तहत मदनपुर के नौजवानों और नाबालिग युवकों पर प्राथमिकी दर्ज किया गया है, तथा उनके भविष्य के साथ जो थानाध्यक्ष खिलवाड़ करने की कोशिश कर रहे है! वो बर्दास्त नही किया जाएगा! मदनपुर में प्रत्येक वर्ष श्री राम जन्मोत्सव महानुष्ठान समिति के द्वारा रामनवमी के अवसर पर झाँकी निकाली जाती है। हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी रामनवमी पर 11 अप्रैल 2022 को शांतिपूर्ण वातावरण में झाँकी का आयोजन किया गया, और थानाध्यक्ष के निर्देशानुसार निर्धारित क्षेत्र से होकर जुलूस गुजरा! जुलूस आपसी भाईचारे और पूरे सौहार्द पूर्ण तरीके से सम्पन्न हुआ, तथा थानाध्यक्ष ने समिति के लोगो को धन्यवाद भी दिया! जुलूस के अगले दिन 12 अप्रैल 2022 को सोशल – मीडिया के एक पोस्ट को आधार बनाकर खुद के बयान पर थानाध्यक्ष द्वारा प्राथमिकी दर्ज किया जाता है, और उसमें मदनपुर के नाबालिग और युवा को नामजद बनाया जाता है, जबकि मुस्लिम समुदाय के लोगो ने इस संबंध में अपनी कोई शिकायत जिला के किसी भी अधिकारी के पास दर्ज नही कराई है । इसलिए यह दर्शाता है कि थानाध्यक्ष को मदनपुर की धरती का आपसी सौहार्द बर्दास्त नहीं हो रहा है। थानाध्यक्ष मदनपुर ऐसी कार्यवाई कर के लोगो के बीच कटुता फैलाने का काम कर रहे है! थानाध्यक्ष का ये कु – कृत्य बर्दास्त नहीं किया जाएगा।थानाध्यक्ष के इस कु – कृत्य से मदनपुर कलंकित हो रहा है, और मदनपुर की जनता मदनपुर को कलंकित नहीं होने देगी! मुस्लिम समुदाय के लोगो को भी इससे कोई समस्या नहीं है। मदनपुर में दोनों समुदाय के लोग आपसी तालमेल और भाईचारे के साथ रहते है! जिसे बिगाड़ने का काम थानाध्यक्ष के द्वारा किया जा रहा है। थानाध्यक्ष का ये कृत्य बर्दास्त नहीं किया जाएगा! श्री सिंह ने कहा है कि जिस फ़ोटो को आधार बनाकर थानाध्यक्ष ने नाबालिगों और युवाओं पर प्राथमिकी दर्ज किया है, वो निराधार है। फ़ोटो में जो झंडा दिखाई दे रहा है! वो मस्जिद से 20 फ़ीट की अधिक दूरी पर बैरिकेटिंग के पास लगा हुआ है! रामनवमी जुलूस के दौरान उसी झंडे का फोटो सोशल – मीडिया पर युवाओ ने डाला था‍! बिना जाँच किए फ़ोटो को आधार बनाकर थानाध्यक्ष ने युवाओं पर प्राथमिकी किया है! इस आशय की जानकारी औरंगाबाद के पुलिस – अधीक्षक, कांतेश कुमार मिश्रा को भी समिति ने दी है, और इस पर स्वय जाँच करने की बात भी कही है। इसलिए मैं एस0पी0 से माँग करता हूं कि मामले की जाँच हो, और नाबालिग युवाओ पर दर्ज झुठी प्राथमिकी थानाध्यक्ष द्वारा वापस लिया जाए! अन्यथा मदनपुर की जनता थानाध्यक्ष के खिलाफ आंदोलन के लिए बाध्य होगी! थानाध्यक्ष मदनपुर चाहते है कि मदनपुर में आपसी कटुता फैलाकर धार्मिक आयोजनों पर रोक लगा दिया जाए! ऐसा मदनपुर की जनता नहीं होने देगी! जरूरत पड़ी तो उग्र आंदोलन के साथ थाना का भी घेराव भी किया जाएगा। जिसका रफीगंज विधानसभा क्षेत्र के निर्दलीय प्रत्याशी सह समाजसेवी प्रमोद कुमार सिंह द्वारा प्रेस विज्ञप्ति भी जारी किया गया है ।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: