नर्क बनी जिंदगी, घर व दूकानों में घुस रहा गंदा पानी

समाज जागर
विश्वनाथ त्रिपाठी
/प्रतापगढ़। बिहार बाजार मे पानी निकासी के इंतजाम नहीं होने की वजह से नालियों का गंदा पानी सड़कों के बाद अब घरों के भीतर घुसने लगा है। जिससे स्थानीय रहवासियों का घरों में रहना भी दूभर हो गया है, लेकिन शिकायत के बाद जनप्रतिनिधि व जिला प्रशासन ध्यान ही नहीं दे रहा। बदबू, गंदगी और मच्छरों से परेशान लोग नालियों का पानी नाले में नहीं पहुंच पाता है। ऐसे हालातों में नालियां ओवरफ्लो होती रहती है और उनका पानी सड़क से लेकर खाली पडे प्लॉटो में भरने के बाद अब घरों में भरने लगा है। नालियों का पानी घरों के चारों ओर भर जाने की वजह से स्थानीय रहवासियों को गंदे पानी से डूबी हुई सड़कों से होकर गुजरने के अलावा सड़ान भरी बदबू के बीच रहना पड़ रहा है। जिसकी जानकारी जनप्रतिनिधियों अधिकारियों को भी है, लेकिन उनके द्वारा कोई इंतजाम नहीं किए जा रहा है। जिससे यहां हालात दिनों-दिन बदहाल होते जा रहे है।
न साफ सफाई और नहीं अन्य इंतजाम
यहां सफाईकर्मी सड़क और नालियों की सफाई तक करने नहीं पहुंचते है। जिससे सड़कों से लेकर नालियों तक गंदगी के अंबार भी लग गए है। जिनसे बीमारियां फैलने का खतरा भी बना रहता है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि चुनावों में वोट मांगने के लिए आने वाले नेता वोट मांगने के समय पर तो वादे कर देते है, लेकिन चुनाव जीतने के बाद एक बार भी हमारी समस्याएं देखने नहीं आते है, जिससे हम परेशान है।

पता नहीं किस बात का दंश झेल रहा है बिहार बाजार वासी।
सड़क बने लगभग 6 महीने से ऊपर हो गए हैं । नाली का पानी लोगो के दुकानों व घरों में घुस रहा है । पता नही कितनी बार विभागीय अधिकारियों को बात करके अवगत कराया गया। और सबसे बड़ी बात ये है कि यहीं से हर रोज सुबह शाम अधिकारी मंत्री ,विधायक सब लोग गुजरते भी हैं और देखते भी है लेकिन फिर भी वो मूक बाधिर बने हुए हैं । ADO पंचायत से कई बार बात की गई उन्होंने सिर्फ आश्वासन दिया लेकिन कार्यवाही नही हो सकी । यहां एक सफाई कर्मी है वो भी महिला । वो सफाईकर्मी होने के बावजूद दूसरो से करवाती हैं काम ।
आखिर सवाल ये उठता है की प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां खुद सरकारी विभाग के तंत्र ही उड़ा रहे हैं । अब इसका जिम्मेदार कौन ?

Please follow and like us:
%d bloggers like this: