लखीमपुर खीरी: फर्जी मुकदमा लिखवाने वाले जाएंगे जेल

दैनिक समाज जागरण

जिले के वर्तमान पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस विभाग के प्रति आ रही शिकायतों के निस्तारण और घटनाओं की निष्पक्ष जांच के लिए एसपी संजीव सुमन ने चार टीमों का गठन किया है। चारों टीमों के प्रभारी इंस्पेक्टर बनाए गए हैं। उपरोक्त टीमों को गाड़ियां भी दी जाएंगी। यह टीमें उन गंभीर घटनाओं की जांच करेंगी। जिनमें फरियादी आरोप लगाते हैं कि थानेदार कार्रवाई नहीं कर रहे।यह टीमें जांच कर अपनी रिपोर्ट एसपी को देंगे। रिपोर्ट के अनुसार अगर घटना फर्जी पाई जाएगी तो वादी पर कार्रवाई होगी। घटना सही होगी तो कार्रवाई न करने के लिए थानेदार नपेंगे।

एसपी संजीव सुमन ने बताया कि खीरी में फर्जी मुकदमा लिखाने और फिर उनमें समझौता कर लेने का ट्रेंड चल रहा है। इसी के चक्कर में कभी कभी सही घटनाओं में भी उचित कार्रवाई नहीं हो पाती। पीड़ित इंसाफ के लिए भटकते रहते हैं। इससे निपटने के लिए एसपी ने एक प्लानिंग तैयार की है। प्लानिंग के तहत चार टीमों का गठन किया गया है। टीमों के प्रभारी इंस्पेक्टरों को बनाया गया है।

यह टीमें एसपी के दिशा निर्देशन में काम करेंगी और अपनी जांच रिपोर्ट भी सीधे एसपी को ही सौपेंगी। एसपी संजीव सुमन ने बताया कि यह टीमें उन घटनाओं की जांच करेंगी। जो लोग गंभीर अपराध का प्रार्थना पत्र लेकर चक्कर काट रहे हैं। जांच के बाद घटना की सच्चाई पता चल जाएगी। उसके बाद अगर घटना सही होगी तो कार्रवाई न करने पर थानेदार नपेंगे और अगर घटना फर्जी पाई जाएगी तो वादी के खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा और वह जेल जाएगा।

पीड़ित को इधर उधर भटकना न पड़े और फर्जी मुकदमे में फंसकर किसी को परेशान न होना पड़े। इसके लिए इन टीमों का गठन किया गया है। ताकि पीड़ित को आसानी से इंसाफ मिल सके। जो लोग बिना किसी वजह के लोगों को परेशान करते हैं। उनके ऊपर कार्रवाई हो सके

Please follow and like us:
%d bloggers like this: