कानपुर के बिकरू कांड में विकास दुबे के सगे संबंधियों जो कि गैंगस्टर आरोपित है सभी की संपत्ति की जांच शुरू , संपत्ति होगी जब्त।*

*बिकरू कांड ।*
*
*अमन बाजपेई मंडल ब्यूरो कानपुर दैनिक समाज जागरण कानपुर।*

विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर बिकरू कांड सुर्खियों में आ गया है अभी हाल में ही बिकरू कांड से जुड़े आरोपितों के खिलाफ पुलिस और सख्त कार्रवाई करने की तैयारी में है। इनमे से लगभग सभी विकास दुबे के सगे संबंधी व रिश्तेदार है । पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट में आरोपित बनाए गए सभी आरोपितों की संपत्तियों का मूल्यांकन शुरू कर दिया है। विकास दुबे के सबसे खास विष्णुपाल सिंह उर्फ जिलेदार सिंह की संपत्तियों का मूल्यांकन हो चुका है और उच्चाधिकारियों का निर्देश मिलते ही पुलिस उसकी अवैध संपत्तियों को जब्त कर दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी।
2 जुलाई 2020 को बिकरू में कुख्यात विकास दुबे के घर दबिश डालने गई पुलिस टीम ने कभी सोचा भी नही होगा ये उनकी जिंदगी का आखिरी दिन हो जायेगा और इतनी जानें चली जाएंगी और पुलिस पर ही गांव में हमला हो जायेगा। इस हमले में बिल्हौर के तत्कालीन सीओ देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी बलिदान हो गए थे। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी विकास दुबे समेत छह हमलावरों को विभिन्न तिथियों व स्थानों पर हुई मुठभेड़ में ढेर कर दिया था। इस प्रकरण में अक्टूबर 2020 में पुलिस ने करीब चार दर्जन आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी। और बाद में बिकरू कांड से जुड़े 30 अभियुक्तों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की। जिन 30 लोगों पर पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई की है, उनमें विकास दुबे का खजांची जय बाजपेयी भी शामिल है। थाना नजीराबाद से दर्ज गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में पहले ही जय बाजपेयी जो कि इस कांड में कुबेर कहे जाते है जिसके पास बेनामी संपत्ति निकलने के बाद उसकी संपत्ति पुलिस ने कुर्क कर दिया था।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: