दार्शकदीर्घा में नवादा एसपी ने हिसुआ में जनता दरबार देखे।

समाज जागरण
नवादा(आर्यन मोहन)
नवादा:भूमि विवाद को कम करने के लिए सरकार हर शनिवार को थाना में जनता दरबार लगाकर समस्या का हल करने का निर्देश दे रखी है। सीओ व थानाध्यक्ष को फरियादियों की सुनने और समस्या निपटारा करने का जिम्मा मिला हुआ है। रह-रहकर वरीय अधिकारी जनता दरबार का निरीक्षण करते रहते हैं। इस शनिवार को एसपी गौरव मंगला अचानक से हिसुआ थाना पहुंच गए।अचानक एसपी पहुंचे तो जनता दरबार लगाए बैठे अधिकारी साहब की खातिरदारी करने के लिए उठ खड़े हुए। लेकिन, एसपी अलग ही अंदाज में दिखे। पास में ही एक कुर्सी पकड़ ली और अधिकारियों को अपना काम पूर्ववत करने को कहा। उन्होंने कहा कि जिस काम में आपलोग लगे हैं उसे करते रहें,मैं अपना काम करने आया हूं। जनता दरबार चलता रहा और एसपी एकाग्रचित होकर कार्यवाही को देखते रहे। जब सभी फरियादियों की बातें सीओ व थानाध्यक्ष ने सुन ली, तब एसपी मुखातिब हुए और जनता दरबार से संबंधित पंजी तलब किया। पंजी व कार्यवाही से जुड़े कागजातों का अवलोकन किया। सीओ व थानाध्यक्ष से पुराने लंबित मामलों के बारे में पूछताछ किया। फिर जरूरी निर्देश देकर वहां से निकल गए।हिसुआ के जनता दरबार में पुराने दो एवं नये चार कुल छह मामलों को सुना गया। (1) अरूण कुमार गुप्ता बनाम बीरेन्द्र प्रसाद, पांचु, जमीनी विवाद (2) माला सिन्हा बनाम रोहन चौधरी, पांचु, नोटिस (3) मनोज कुमार बनाम रंजीत मिश्र, मनमा, बंटवरा (4) विकास कुमार बनाम आशुतोष कुमार, बीच बाजार, रास्ता विवाद (5) राखी देवी बनाम हरिद्वार यादव, सकरा, सुलह (6) चन्द्रमौली सिंह बनाम गोपाल सिंह, एकनार, खतियान सुधार का मामला था जिसे अंचलाधिकारी लोकेश कुमार द्वारा न्यायालय जाने का निर्देश दिया गया। जनता दरबार में आए विवादित मामलें को सीओ व थानाध्यक्ष मोहन कुमार ने गंभीरता से सुना और फरियादियों को आवश्यक सुझाव दिए।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: