fbpx

जापान मे ट्रेन की सीट फटी हुई थी एक जापानी नागरिक ने अपनी बैग में से सूई धागा निकाला और सीट की सिलाई करने लगा

जापान मे ट्रेन की सीट फटी हुई थी एक जापानी नागरिक ने अपनी बैग में से सूई धागा निकाला और सीट की सिलाई करने लगा एक भारतीय नागरिक भी उसी ट्रेन मे था उसने पूछा क्या आप रेल्वे के कर्मचारी है उसने कहा नहीं मैं एक शिक्षक हूं मैं इस ट्रेन से हर रोज अप डाउन करता हूँ जाते वक्त इस सीट की खस्ता हालत देखकर वापस आते वक्त बाजार से सुई धागा खरीद लाया हूँ मुझे महसूस होता था कि अगर कोई विदेशी नागरिक इसे देखेगा तो मेरे देश की कितनी बेईज्जती होगी ऐसा सोच के सीट की सिलाई कर रहा—:जो नागरिक देश की इज्जत अपनी इज्जत समझता हो जिस देश के नागरिको की सोच महान हो वो देश विकसित और महान बन जाता है जापान आज इतना विकसित हो गया है की हम उससे बुलेट ट्रेन खरीद रहे है

Please follow and like us:
%d bloggers like this: