उचित कार्यवाई न होने पर आन्दोलन के लिए मजबूर होगे -रेहड़ी पटरी संचालक वेलफेयर एसोसिएशन

(देव मणि शुक्ल चीफ ब्यूरो )

रेहडी पटरी संचालक वेल्फेयर एशोसिएन के अध्यक्ष श्याम किशोर गुप्ता ने उत्तर प्रदेश शासन प्रशासन से लिखित माग की हैं कि रेहडी पटरी वालो को मुरादाबाद महानगर मे किसी को वेडिंग जोन आवंटित नहीं किया गया है और न हीं आवेदन फार्म लिया है।और यदि लिया है तो उसे सार्वजनिक करने की मांग भी की गयी है।जिसे लेकर एशोसिएन न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगा। और अपनी बात मजबती से रखेगा ।
यह रेहडी पटरी संचालक वेल्फेयर एशोसिएन की लडाई पिछले काफी दिनो से चल रहा है ।अभी उत्तर प्रदेश विधान सभा का चुनाव भी चल रहा है बावजूद इसके कोई सुनवाई नही हुई ।सभी शासन प्रशासन मे बैठे आला अधिकारियों एवं नेताओं ने इसे अनसुनी करके टालते रहे है लेकिन उन्हें शायद इसका भान भी नहीं है कि इस समय यह संगठन बडी मजबूती के साथ लडाई लड रहा है ।और यह लडाई आन्दोलन का रूप कब ले लेगी उन्हें शायद इसका अंदाज़ा भी नही है। आन्दोलन होने की जिम्मेदारी पूरी की पूरी शासन प्रशासन की होगी ।
रेहडी पटरी संचालक वेल्फेयर एशोसिएन की महिला महासचिव अपर्णा शर्मा के नेतृत्व में वेंडरों को वेंडिंग जोन में शिफ्ट कराया जा रहा है। अर्पणा शर्मा के नेतृत्व में मुख्य कार्यपालन अधिकारी का आदेश भी था कि सभी वेंडर को वेंडिंग जोन में बैठाया जाए लेकिन परियोजना अभियंता सर्किल ऑफिसर सुपरवाइजर इन लोगों को वेंडिंग जोन 11 वर्क सर्किल 4 मैं बैठने नहीं दिया जा रहा है। प्राधिकरण की दोहरी नीति मुख्य कार्यपालक अधिकारी कुछ कहती हैं और प्राधिकरण के सर्किल ऑफिसर परियोजना अभियंता सुपरवाइजर अपनी मनमानी चलाते हैं कहीं ऐसा ना हो यह आंदोलन के रूप में व्यवस्थित हो जाए यह मामला खोड गौशाला के पास का है मुख्य कार्यपालक कार्य का संज्ञान नहीं लेते हैं तो एक बहुत बड़ा आंदोलन होगा पटरी दुकानदारों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं होगा। रेहडी पटरी संचालक वेलफेयर एसोसिएशन महासचिव अर्पणा शर्मा के नेतृत्व में संगठन एक जुट होकर आन्दोलन करेगा । जिसका शासन प्रशासन खुद जिम्मेदार होगा।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: