जिले के किस नगर क्षेत्र में किस वर्ग के लिए कितनी सीटें होगी आरक्षित।

नवादा (धर्मजीत सिन्हा) जिले के तीन शहरी निकायों में चुनाव को ले वार्डों के परिसिमन का काम पूरा कर लिया गया है। अब दावा आपत्ति लेने और उसके निपटारे का काम शुरू किया गया है।
नवादा शहरी क्षेत्र का विस्तार हुआ है। वार्डों की संख्या 33 से बढ़कर 44 हो गई है। गोनावां, बुधौल, फरहा, मस्तानगंज, भदौनी, केंद्रुआ, नेहालूचक, अकौना, महानंदपुर आदि गांव अब नवादा नगर परिषद का हिस्सा हो गया है। सभी नए-पुराने इलाके में चुनावी सरगर्मी बढ़ गई है। इन सबके बीच चुनाव लड़ने को इच्छुक प्रत्याशी अपने अनुकुल वार्डों को चिन्हित करने में जुट गए हैं। कौन सा वार्ड किस जाति की बाहुलता का है, आरक्षण रोस्टर क्या होगा, कौन सीट अनुसूचित जाति-जनजाति का होगा, कौन सीट सामान्य होगा, कौन महिला होगा, आदि पर मगजमारी हो रही है।
इसी प्रकार वारिसलीगंज में 20 से बढ़कर वार्डों की संख्या 25 हो गई है। नवसृजित रजौली नगर पंचायत में 14 वार्ड बनाए गए हैं। नगर परिषद हिसुआ का परिसिमन होना बाकी है। तीन नगर क्षेत्रों में अनुसूचित वर्ग की सर्वाधिक आबादी 19.20 फीसद रजौली नगर पंचायत में है। नवादा व वारिसलीगंज में 12 फीसद के करीब है।
जानिए क्या होगा आरक्षण रोस्टर :-
अबतक पंचायत और नगर निकायों में आरक्षण रोस्टर का निर्धारण अनुसूचित जाति, अनुसूचित जाति महिला, पिछड़ा वर्ग, पिछड़ा वर्ग महिला और सामान्य महिला के लिए सीटें आरक्षित होती रही है। नियमानुसार अनुसूचित जाति के लिए उसके आबादी के प्रतिशत के अनुसार सीटें आरक्षित होती है। इस वर्ग के लिए जितनी सीटें आरक्षित होती है उसमें आधी महिला के खाते में जाती है। पिछड़ा वर्ग को 20 फीसद का आरक्षण मिलता है। इसमें भी आधी सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित की जाती है। अनुसूचित वर्ग व पिछड़ा वर्ग को आरक्षण दिए जाने के बाद शेष सीटें सामान्य रह जाती है। इसमें भी 50 फीसद महिलाओं के लिए आरक्षित होती है।
नवादा में अनुसूचित वर्ग के खाते में 5 सीटें जाने का अनुमान :-
नवादा नगर परिषद की कुल आबादी 180740 है। इसमें अनुसूचित वर्ग की कुल जनसंख्या 22277 है। इस लिहाज से आबादी का प्रतिशत 12.32 फीसद होता है। ऐसे में 12 फीसद सीटें इस वर्ग के लिए आरक्षित होगी। अर्थात कुल 44 सीटों का 12 फीसद अनुसूचित वर्ग के खाते में जाएगा। इस लिहज से इस वर्ग के खाते में 5 सीटें जाने का अनुमान है। इसमें 3 सीटें सामान्य और दो महिला आरक्षित होगा।
पिछड़ा वर्ग को मिल सकता है 9 सीटें :-
आरक्षण नियमावली के मुताबकि पिछड़ा वर्ग के लिए 20 फीसद सीटें आरक्षित होना है। इस लिहाज से कुल 44 वार्डों में 9 सीटें पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित होगा। इसमें 4 सीटें महिला आरक्षित होगा। शेष 5 सीटें सामान्य होगा। इस प्रकार 14 सीटें आरक्षित और 30 सीटें सामान्य होगी। जिसमें 15 महिला व 15 सामान्य सीटें होगी।
वारिसलीगंज नगर परिषद :-
-वारिसलीगंज नगर परिषद में कुल 25 वार्ड हैं। यहां की आबादी 41315 है। इसमें अनुसूचित जाति की संख्या 4889 है। अर्थात करीब 12 फीसद आबादी अनुसूचित वर्ग की है। इस लिहाज से यहां अनुसूचित वर्ग के लिए 3 सीटें आरक्षित होगी। जिसमें 01 महिला और 02 सामान्य सीटें होगी। इसी प्रकार पिछड़ा वर्ग के लिए 20 फीसद यानि 5 सीटें आरक्षित होगी। जिसमें 02 महिला और 03 सीटें सामान्य होगी। शेष बची 17 सीटों में 8 महिला और 9 सामान्य सीटें होगी।
रजौली नगर पंचायत :-
नव सृजित रजौली नगर पंचायत की कुल आबादी-20336 है। यहां 16 वार्ड बनाए गए है। अनुसूचित जाति की संख्या 3905 है। अर्थात अनुसूचित वर्ग की आबादी 19. 20 फीसद है। इस लिहाज से 3 सीटें अनुसूचित वर्ग के लिए आरक्षित होगा। इसमें 01 महिला व 02 सीटें सामान्य होगा।
पिछड़ा वर्ग को 20 फीसद सीटें मिलनी है। कुल 14 वार्डों के नगर पंचायत में 3 सीटें पिछड़ा वर्ग को भी मिलना है। इसमें 01 महिला और 02 सीटें सामान्य होगा। शेष 8 सीटों में 4 महिला आरक्षित और 4 सामान्य सीटें होगी।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: