हाथी मेरे साथी: कांग्रेस और लोकल दल के 1-1 नेता ने थामा हाथी का साथ

समाज जागरण

राजनीतिक दल बदल के दल-दल में जहाँ एक तरफ नेता इधर-उधर भाग रहे है वही राजनीतिक पार्टियाँ भी अपने आफिस के बाहर इंतजार करने में लगे है। विचारधारा राजनीतिक विवशता के आगे शुन्य होते जा रहे है। बीएसपी से बीजेपी और बीजेपी से अब एसपी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य जहाँ चर्चा के विषय बने हुए है वही दूसरी तरफ हजारों के संख्या में नेता और उनके समर्थक पार्टी बदलने को तैयार बैठे है। इसी क्रम में कल यानि 12 जनवरी को दो महानुभाव नेताजी पार्टी बदलकर बीएसपी का दामन थाम लिया। यह जानकारी बीएसपी प्रमुख बहन मायावती ने अपने टवीटर हैंडल के माध्यम से दी है:-

मुजफ्फरनगर जिले के यूपी के पूर्व गृहमंत्री रहे श्री सईदुज़्ज़माँ के बेटे श्री सलमान सईद ने कल दिनांक 12 जनवरी को बीएसपी प्रमुख से देर रात मुलाकात की व कांग्रेस छोड़कर बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। श्री सईद को बीएसपी ने चरथावल विधानसभा की सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है। इनके साथ ही, सहारनपुर जिले के पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री रशीद मसूद के भतीजे व श्री इमरान मसूद के सगे भाई श्री नोमान मसूद भी कल लोकदल छोडकर, बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। बीएसपी प्रमुख ने इनको गंगोह विधानसभा की सीट से अपनी पार्टी का उम्मीदवार भी बनाया है।

शिखर से शुन्य तक और शुन्य शिखर तक रहने वाली पार्टियों के लिए दल बदल कितना फायदेमंद होंगे यह तो आने वाले भविष्य और 2022 के चुनाव में ही सही पता लगेंगे। लेकिन इस दल बदल से जमीनी स्तर पर कार्य कर रहे नेताओं को झटका जरुर लगे है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: