घर मे प्रिन्टर मशीन से नकली नोट छापने वाला युवक गिरफ्तार




(देव मणि शुक्ल ब्यूरो प्रभारी )

नोएडा पुलिस ने प्रिंटर की मदद से घर के अंदर जाली नोट छापने के आरोपी युवक को गिझौड़ से गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से 4750 नकली रुपये, अधबने नोट और प्रिंटर बरामद हुआ है। वह रात में इन नोट को बाजार में चलाता था। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।
नोएडा जोन के एसीपी-2 रजनीश वर्मा ने बताया कि रविवार को सेक्टर-24 थाना पुलिस की टीम ने सूचना के आधार पर सेक्टर-53 सर्विस रोड से एक आरोपी को नकली नोटों के साथ पकड़ा गया है। पुलिस के अनुसार, पकड़े गए आरोपी की पहचान बिहारी कॉलोनी गिझौड़ निवासी जानकी यादव के रूप में हुई। आरोपी मूल रूप से तरबगंज गोंडा का रहने वाला है। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह काफी दिन से गिझौड़ में किराये के मकान में रहता है।
वह असली नोट की फोटोकॉपी करके नकली नोट तैयार करता है और उनको बाजार में चलाता है। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर उसके कमरे से एक प्रिंटर, 4750 रुपये के नकली नोट, 590 रुपये के असली नोट, 99 पेपर पर नकली 198 अधबने नोट, दो रिम कागज बरामद किए हैं। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ सेक्टर-24 थाना पुलिस ने संबंधित धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की है।
आरोपी जानकी यादव पिछले तीन माह से नोएडा में काम कर रहा था। वह अब तक लगभग डेढ़ से दो लाख रुपये के नकली नोट छाप चुका था। वह अपने पांच साथियों के साथ पहले भी गजियाबाद के खोड़ा में नकली नोट छापते हुए पकड़ा गया था। जेल से छूटने के बाद उसने नोएडा में यह काम शुरू कर दिया था।
पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह अधिकतर पचास रुपये के नकली नोट कलर प्रिंटर के माध्यम से असली नोट की कॉपी करके छापता था। छोटे नोट होने के कारण वह इन नोटों को अधिकतर शाम के समय बाजार में चलाता था जिसके कारण ये आसानी से चल जाते थे। पुलिस ने बरामद 50 रुपये के नोट को पानी में डुबोया तो नोट का पूरा रंग निकल गया और सफेद कागज रह गया।
आरोपी से हुई पूछताछ में पता चला है कि इस गैंग का मुख्य संचालक गोंडा निवासी अर्जुन गोस्वामी है। वह वर्ष 2019 में खोड़ा में पकड़ा गया था और फिलहाल गोंडा जेल में बंद है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: