प्रत्येक आर डब्लू ऐ में एक जल समिति बने – आर डब्लू ऐ की राष्ट्रिय कोंफ्रेंस

दैनिक समाज जागरण
23 नवम्बर 2021 , कृष्णा इंजीनियरिंग कोलेज , मोहन नगर , गाज़ियाबाद – आज यहाँ पहली बार गाज़ियाबाद में आर डब्लू ऐ की राष्ट्रिय कोंफ्रेंस का कोरवा यूपी द्वारा आयोजन किया गया | कोंफ्रेंस का उद्घाटन करते हुए भारत सरकार के जल शक्ति मंत्री माननीय श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने वर्चुअली बोलते हुए कहा की जैसे स्वच्छता मिशन को एक जन आन्दोलन बनाया गया वैसे ही जल संरक्षण को भी जल आन्दोलन बनाना होगा | उन्होंने कहा की सेटालाईट तस्वीरों से पता चलता है की दिल्ली , बंगलौर , चेन्नई और हैदराबाद में भयंकर जल संकट हो सकता है | हम केवल 8% वर्षा के जल को स्टोर कर पाते है | इसलिए उन्होंने स्वजल योजना आपेक्षित गांवो और जिलो के लिए , जल जीवन मिशन जल संरक्षण के लिए ( ग्रे वाटर ) और जल शक्ति अभियान क्षमता विकास के लिए प्रारम्भ की है | 2024 तक घर घर पाइप लाइन से पानी पहुँचाने का लक्ष्य |
मुख्य अतिथि राज्य सभा के सांसद माननीय श्री अनिल अग्रवाल जी ने कहा की योजनाओं में उनकी राय लेनी आवश्यक है जिनके लिए योजनाये बनाई जाती है | उन्होंने कहा की वर्तमान में करीब 40 % पानी हमारी पाइप लाइन से लीक हो जाता है | ग्रे वाटर का पुन : इस्तेमाल तो करीब करीब शून्य है जो इजराइल में 100% है |
जल पुरुष श्री गजेन्द्र सिंह ने चेताया की अब समय नहीं बचा है प्रत्येक आर डब्लू ऐ में एक जल समिति का गठन होना चाहिए जिसकी जिम्मेदारी हो की जिस जगह भी संभव है वहाँ युद्ध स्तर पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग पिट बनाई जाए और यही काम NHAI को भी करना है | अस्तित्व बचाना है तो जल संरक्षण करें | विधान परिषद् सदस्य माननीय श्री दिनेश गोयल जी ने कहा की पानी की बर्बादी को अपराध की श्रेणी में लाया जाए |

कोरवा यूपी के अध्यक्ष श्री पवन कौशिक ने तमिलनाडु , वेस्ट बैंगोल , नागालैंड , केरला , तेलंगाना , आंध्र प्रदेश , राष्ट्रिय राजधानी क्षेत्र एवं उत्तर भारत से आये आर डब्लू ऐ फेडरेशन के प्रतिनिधियों का और अतिथियों का स्वागत यह कहकर किया की पानी की समस्या गंभीर है और उसे केवल सरकार पर नहीं छोड़ा जा सकता , हमे आगे आना है | विशाखा पटनम के डा के एस आर मूर्ति और चेन्नई के श्री आर ऍन एस नागरजुनन ने पानी की समस्या पर एक स्वेत पत्र जारी किया |
आर डब्लू ऐ की राष्ट्रिय कोंफ्रेंस के मुख्य संयोजन कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने मंच संचालन करते हुए सुझाव दिया की ग्रे वाटर को दोबारा इस्तेमाल करना होगा |
असाधारण कार्य करने वाले देश भर के आर डब्लू ऐ को आज प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह भेट किये गये | आर डब्लू ऐ की राष्ट्रिय कोंफ्रेंस को चौथे स्तर की संसद ही समझना चाहिए | कोरवा के मुख्य सलाहकार डा आर के आर्य , महासचिव जय दीक्षित और कैलाश चन्द्र शर्मा ने डेलिगेट्स को धन्यवाद दिया | कोंफ्रेंस में महिलाओं की भागीदारी अत्यंत ही प्रशसनीय रही |

Please follow and like us:
%d bloggers like this: