दुख की घड़ी में उन्नाव दलित बेटी के घर पहुंचे युवा प्रत्याशी 162 बांगरमऊ आलम खान व भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद*

*

दैनिक समाज जागरण संवाददाता उन्नाव

उन्नाव दलित बेटी के घर पहुंचे चंद्रशेखर आजाद 162 बांगरमऊ विधानसभा के प्रत्याशी आलम खान ने पुलिस की लापरवाही से गई दलित बेटी की जान भीम आर्मी आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद रात पहुंचे उन्नाव ने दलित युवती हत्याकांड के पीड़ित परिवार से कहा कि पुलिस ने गंभीरता दिखाई होती तो बेटी की जान नहीं जाती। उन्होंने पीड़ित परिवार पर अत्याचार करने वाले आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया और कहा वह दुख की घड़ी में उनके साथ हैं।

*उन्नाव में 40 घंटे बाद दलित युवती के शव का दोबारा हुआ अंतिम संस्कार*

उन्नाव में पोस्टमार्टम हाउस में पूरी रात धरने पर बैठे रहे दलित युवती के परिजन लाठी से पीट-पीटकर पिता को उतारा मौत के घाट गुरूवार को दलित परिवार से मुलाकात के बाद दलित युवती का पीड़त परिवार रवाना हो गया, जहां पहुंच कर उनसे मुलाकात की और न्याय की गुहार लगाई। इस दौरान पीड़ित मां रीता व पिता मुकेश, भाई रोहित और छोटी बेटी ज्योति मौजूद रही। पीड़ित परिजनों का ढांढस बंधाते हुए कहा कि वह दुख की घड़ी में वह पीड़ित परिवार के साथ हैं और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए ठोस कदम उठाने की जरूरत है। रात पीड़ित परिवार उनसे मिलकर अपनी व्यथा सुनाई। इससे स्पष्ट है कि सपा नेता के बेटे समेत लोकल पुलिस भी पूरी तरह से इसके लिए जिम्मेदार है। पीड़ित परिवार की शिकायत का समय से संज्ञान पुलिस लेती तो यह घटना नहीं होती। सरकार दोषी पुलिस वालों को बर्खास्त करें और उनके खिलाफ सख्त धाराओं के मुकदमा दर्ज करके उन्हें जेल भेजे। गरीब पीड़ित परिवार की उचित कानूनी पैरवी की व्यवस्था करें।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: