थायरॉइड रोग के लिए डाइट प्लान

थायराइड एक गंभीर रोग है। यह बीमारी किसी को भी हो सकती है। जब भी किसी व्यक्ति को थायराइड होता है तो शुरुआत में रोगी को थायरॉयड के लक्षणों का पता नहीं चलता, लेकिन जब बीमारी बढ़ जाती है तो कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं। आमतौर पर यही देखा जाता है कि जब किसी व्यक्ति को थायराइड होता है तो वह डॉक्टर से थायराइड का इलाज कराता है, लेकिन क्या आपको पता है कि थायराइड का इलाज कराने के दौरान आपको उचित खान-पान की भी जरूरत होती है।

•थायराइड रोग में क्या खाएं

•अनाज: पुराना शाली चावल, सत्तू।

•दाल: मूंग, मसूर, अरहर, चना दाल।

•फल एवं सब्जियां:
परवल, लौकी, तोरई, करेला, प्याज, कददू, आलू, मिर्च, मशरूम, मौसमी सब्जियां, केला, एवोकाडो, अनानास, नारियल, मौसमी फल, आम, अनार, नारंगी, शकरकंद, जामुन, फालसा।

•अन्य: गाय का दूध, दही, नारियल पानी, अजवाइन का पानी, ब्राउन राइस, सूरजमुखी के बीज, काली मिर्च, बादाम, मूंगफली।

•थायरॉयड रोग में क्या ना खाएं

•अनाज: नया चावल, मैदा।

•दाले: कुलथ, उड़द, राजमा, छोले।

•फल एवं सब्जियां:
बैंगन, नींबू, पत्तेदार सब्जियाँ, टमाटर, खट्टे अंगूर, कटहल, अरबी, अंकुरित अनाज, गाजर, सोयाबीन।

•अन्य: मछली, पनीर, तीखा भोजन, तैलीय मसालेदार भोजन, कोल्डड्रिंक्स, फास्टफूड, जंक फ़ूड, डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ।

🚫सख्त मना :- तैलीय मसालेदार भोजन, अचार, अधिक तेल, कोल्डड्रिंक्स, मैदे वाले पर्दाथ, शराब, फास्टफूड, सॉफ्टड्रिंक्स, जंक फ़ूड, डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ, मांसहार सूप,. कच्ची सब्जी, ब्रोकोली, पत्तागोभी, फूलगोभी, भिंडी।

•थायरॉयड के दौरान जीवनशैली

•तनाव मुक्त जीवन जीने की कोशिश करें।

•योगासन करें।

•जंक फूड एवं प्रिजरवेटिव युक्त आहार को नहीं खाएं।

•धूम्रपान, एल्कोहल आदि नशीले पदार्थों से बचें।

•टहलें, हल्का व्यायाम करें।
रात में ना जागें।

•धूप का सेवन करें।

•उपवास करें।

*Yogacharya & tharipist devendra

Please follow and like us:
%d bloggers like this: