पकरीबरावां पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों का प्रदर्शन ।

प्रशासन के खिलाफ 22 को प्रखंड मुख्यालय पर देंगे धरना ।
पकरीबरावॉ(नवादा)
पकरीबरावां थाना क्षेत्र के ज्यूरी गांव में डेढ़ महीने से लापता मो. वाहिद के पुत्र मो. अबू तालिब के शव मिलने से गांव वालों में आक्रोश है। शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम के बाद शव गांव पहुंचते ही ग्रामीणों का आक्रोश एक बार फिर फूट पड़ा। आक्रोशित ग्रामीणों ने गांव में तैनात पुलिस के जवानों के समक्ष जमकर नारेबाजी की।
ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन हाय, हाय के नारे भी लगाए।
ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस की लापरवाही के कारण ही मासूम की जान गई है। केस के अनुसंधानकर्ता मनीष कुमार मामलें में पूरी तरह लापरवाह बनें रहे। वाहन, एसएचओ द्वारा भी इस पर ध्यान नहीं दिया गया।
परिजनों का कहना था कि अगर समय रहते पुलिस हरकत में आती तो आज बच्चे का शव बरामद नहीं होता, बल्कि वह जीवित होता।
पुलिस की लापरवाही के खिलाफ 22 को प्रदर्शन-
ज्यूरी में बच्चे की अपहरण के बाद हत्या को लेकर पकरीबरावां पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। पुलिस की लापरवाही के खिलाफ परिजनों एवं ग्रामीणों की आवाज बुलंद हो रही है। इसी को लेकर केस के अनुसंधानकर्ता मनीष कुमार एवं एसएचओ नागमणि भास्कर की बर्खास्तगी, हत्यारे की शीघ्र गिरफ्तारी सहित अन्य मांगों को लेकर 22 मार्च को प्रखंड कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। सुबह 10 बजे से 4 बजे तक धरना दिया जाएगा।
इसकी जानकारी मृतक बच्चे के पिता मो. वाहिद ने देते हुए बताया कि इसकी जानकारी अनुमंडल पदाधिकारी को दी गई है।
बता दें कि ग्रामीणों ने पुलिस पर बच्चे के शव के साथ अमानवीयता बरतने का भी आरोप लगाया है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: