मगरमच्छ के आंसू बहाना बंद करे कांग्रेस, मायावती

उत्तर प्रदेश में फुट डालों राज करो के तहत सत्ता की राह तलाश रही कांग्रेस पार्टी को बीएसपी सुप्रिमों मायावती नें तीखी टिप्पणी की है। आज कल लखीमपुर मामले को लेकर सक्रिय कांग्रेस राजस्थान में एक दलित की माॅव लिंचिंग पर चुप क्यों है ? शोक और शोक में सत्ता की तलाश राजनीतिक गिद्दो का लक्ष्य बनता जा रहा है। लखीमपुर में 9 लोगों की जान गई है। लेकिन आंदोलन सिर्फ 5 लोगों के लिए किया जा रहा है। सबसे बड़ी बात एक पत्रकार की हत्या की गयी है लेकिन पूरे राजनीतिक में इस बात को लेकर खामोशी है।

राजस्थान में हुए कथित लिंचिग मामले पर कांग्रेस सरकर की मामले पर चुप्पी को लेकर उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने हमला बोला।
राजस्थान में हुए कथित मॉब लिंचिग (Mob lynching) मामले पर प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। हालांकि राज्य सरकार की तरफ से मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की गई। कांग्रेस सरकर की मामले पर चुप्पी को लेकर उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने हमला बोला। उन्होंने कहा, “राजस्थान के हनुमानगढ़ में दलित की पीट-पीट (Dalit man lynched in Rajasthan) कर की गई हत्या दुखद व निन्दनीय, लेकिन कांग्रेस हाईकमान चुप क्यों? क्या छत्तीसगढ़ व पंजाब के सीएम (Punjab and Chattisgarh CM) वहां जाकर पीड़ित परिवार को 50-50 लाख रुपये की मदद देंगे? बीएसपी जवाब चाहती है वरना दलितों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाना बन्द करे।”

इसी तरह, भाजपा सांसद राज्यवर्धन राठौड़ (Rajyavardhan Rathod) ने भी मामले को लेकर राजस्थान की कांग्रेस सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, “यह बहुत दुखद है कि एक दलित युवक की बेरहमी से पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। राजस्थान की सरकार सिर्फ कागजों पर सरकार है। राजस्थान सरकार के अंदर दो गुट हैं और उन्होंने लोगों को अपने ऊपर छोड़ दिया है। राजस्थान में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई है।”

इसके अलावा केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) ने भी लिंचिग मामले पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “राहुल गांधी लखीमपुर की चिंता नहीं करें। वहां सीएम योगी का शासन है, सीएम अशोक गहलोत का नहीं।”

उन्होंने तीखा शब्दों में कांग्रेस की निंदा करते हुए कहा, ”राजस्थान के प्रेमपुरा में दलित युवक की हत्या के बारे में बोलने के लिए साहस दिखाएं ताकि लोगों को पता चले कि आप कितने सच्चे हैं? उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर न तो सीएम अशोक गहलोत और न ही सचिन पायलट ने बात की है।”

गौरतलब है कि राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले में शनिवार को एक दलित युवक की कथित प्रेम प्रसंग को लेकर कुछ लोगों ने मिलकर पीट-पीट उसकी हत्या कर दी।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: