चैन स्नैचिंग करती चोरनी को यात्री महिला ने की पिटाई



(शिवशंकर पाण्डेय जिला ब्यूरो)

बालाघाट। शादी ब्याह का सीजन होने के कारण यात्री बसों एवं भीड़ भाड़ वाले स्थानों पर असामाजिक तत्वों ने भी डेरा जमा दिया है जिससे आये दिन चोरी की घटनाएं हो रही है।वारासिवनी बस स्टैंड परिसर से एक महिला को चैन स्नेचिंग करते हुए यात्री महिला ने पकड़कर जमकर पीटा जिसके बाद आसपास के लोगों ने चोरनी को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। घटना शुक्रवार दोपहर करीब 12. बजे की है।जब बालाघाट से तिरोड़ी की ओर जाने वाली निजी यात्री बस से पानी पीने नीचे उतरी दो महिलाओं में से एक महिला के पर्स से महिला चोर ने चोरी करने का प्रयास किया, लेकिन साथ वाली महिला की नजर पड़ जाने से चोरनी चोरी करने में असफल हो वहां से भागने लगी चोरनी को भागते देख महिला ने भी दौड़ लगाकर उसे पकड़कर जमकर पिटाई कर दी।

आसपास के लोगों ने बताया कि जब वह महिला चैन छीनने में असफल हो गई तो वह भागने लगी जिसका उक्त महिला यात्री ने चंद कदम की दूरी तक पीछा कर उसे पकड़कर उसकी जमकर पिटाई कर दी।महिला यात्री द्वारा की जा रही पिटाई पर कुछ देर तक तो बस स्टैंड में मौजूद लोग कुछ समझ नहीं पाए, पर जब पिटाई का कारण समझ आया तो कुछ अन्य महिलाओं ने भी अपना हाथ उक्त चोरनी पर साफ किया। महिला ने बताया कि उक्त महिला द्वारा उसके गले से चैन खींचने का प्रयास किया गया हैं।इसके बाद लोग हरकत में आए और घटना को अंजाम देने का प्रयास करने वाली महिला को पकड़कर स्थानीय थाने में घटना की सूचना देकर पुलिस के हवाले कर दिया।

हालांकि सब कुछ नार्मल होने पर महिला ने बस पकड़कर अपने गतंव्य की ओर रवाना हो गई।महिला का बयान लेने के लिए स्थानीय पुलिस ने महिला को खोजते हुए बस स्टैंड पहुंची। जहां बस एजेंटों से पूछताछ में जानकारी लगी कि महिला के साथ एक अन्य महिला भी थी जिनके साथ वह बुदबुदा गई है।पुलिस की एक टीम महिला यात्री का बयान लेने उसके गांव रवाना हुई।

बताया गया है कि लूट का शिकार होने से बची महिलाएं महाराष्ट्र के बपेरा निवासी हैं जो अपने रिश्तेदार नदी टोला बुदबुदा निवासी के पुत्र के विवाह समारोह में शामिल होने आई हुई है। क्षेत्र में बीते दो माह में चोरी और ठगी की घटनाओं में अचानक बढ़ोत्तरी हुई हैं।बीते 10 दिन पूर्व ही अपने मायके आई सिवनी निवासी एक महिला के पर्स से करीब आठ लाख रुपये कीमत के जेवरात चुरा लिए गए थे।इसी तरह करीब पांच दिन पूर्व पूर्व नपाध्यक्ष शशि सुरेश एरपुढे के भाई जब एसटी बस में सफर कर वारासिवनी आ रहे थे।इसी सफर के दौरान उनके बैग में पर्स के भीतर रखे लाखों रुपयों के जेवरात अज्ञात चोरों द्वारा बस से चोरी कर लिए गए थे। बुधवार को वारासिवनी के एक बुजुर्ग व्यापारी को अज्ञात व्यक्ति द्वारा अपने आप को पुलिस वाला बताकर उससे 20 हजार रुपये छीन लिए थे।इसकी पतासाजी में लगी ही हुई थी कि आज बस स्टैंड क्षेत्र में फिर से चोरी के प्रयास की घटना हो गई।जो महिला की सूझबूझ से असफल हो गई और चोरी की घटना को अंजाम देने की कोशिश करने वाली महिला चोर लोगों के सहयोग से पुलिस के हत्थे चढ़ गई।
बसों की एजेंटी करने वालों की माने तो ये तीन महिलाओं का ग्रुप हैं जो बस स्टैंड से अपने गंतव्य की ओर जाने के लिए बसों का इंतजार कर रहे यात्रियों की रेकी करने के बाद यात्री के बस में सवार होने के बाद ग्रुप की एक सदस्य उस बस में सवार हो जाती हैं और अपने काम को अंजाम देने के बाद रास्ते में बस से उतर जाती हैं।हालांकि नगर में हो रही ऐसी घटनाओं से चिंचित पुलिस के साथ बस एजेंट और बस कंडक्टर ने यात्रियों से सावधान रहने की गुहार लगाते नजर आ रहे है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: