fbpx

मधुमेह के रोगियों के लिए सर्वश्रेष्ठ आहार

मधुमेह को रोकने और नियंत्रित करने के लिए कदम उठाते हुए अभाव और कष्‍ट सहने की जरूरत नहीं है। न ही आपको मिठाई को पूरी तरह छोड़ने की जरूरत है। बल्कि जीवन भर हेल्‍दी डाइट लेना महत्‍वपूर्ण है। फाइबर से उच्‍च और शुगर और फैट में कम और दिल के लिए स्‍वस्थ आहार मधुमेह प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण होता है। मधुमेह से पी‍ड़‍ित लोग स्‍वस्‍थ खान-पान और दैनिक आहार योजना बनाकर ब्‍लड शुगर के स्‍तर को नियंत्रित कर सकते हैं।


मधुमेह को नियंत्रण करने के लिए आपको कुछ उपायों पर अमल करना होगा। इसके लिए आपको अपने आहार को छोटे भागों में विभाजित करना होगा। नियमित रूप से अपने सभी आहार को लेने कोशिश करें। इसके अलावा अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट, मिनरल और फाइबर से परिपूर्ण खाने की कई आइटम को जोड़ने का प्रयास करें।

सुबह जल्दी : 6-7 बादाम / 1-2 अखरोट।
नाश्ते में आइटम : 1 कटोरी ओट्स/ दूध/ 2 अंडे के स्लाइस/मल्‍टीग्रेन ब्रेड/सब्जियां/दही/टोस्ट।
सुबह का नाश्ता : आप पपीता, नारियल और छाछ आदि सहित मौसमी फल जोड़ सकते हैं।
दोपहर के भोजन के मेनू: सलाद, सब्जियां, दाल, चपाती, दही, चावल, पनीर चिकन आदि।
शाम का नाश्ता : फल और स्‍नैक्‍स जैसे ढोकला, इडली, भुना हुआ नमकीन और मुरमुरा आदि।
रात के खाने से पहले : मिक्स्ट सब्जियों का सूप।
रात का भोजन: चपाती, सब्जी, दाल/चिकन, हरा सलाद।

मधुमेह होने पर चीनी बिल्‍कुल नहीं लेनी है, यह बात ठीक नही है।

तथ्य: मधुमेह होने पर चीनी को बिल्‍कुल नहीं लेना यह हम सभी के दिमाग में बैठा हुआ है। लेकिन अच्‍छी खबर यह है कि स्‍वस्‍थ आहार योजना को ठीक से लागू करने पर आप अपने पसंदीदा खाद्य पदार्थों का आनंद ले सकते हैं। मिठाई को सीमा से दूर रखने की जरूरत नहीं है जब तक यह एक स्वस्थ भोजन योजना का हिस्सा है या व्‍यायाम के साथ जुड़ा हुआ है।

कार्बोहाइड्रेट में कटौती न करे बस नियंत्रित रखे

तथ्य: संतुलित आहार खाना सेहत की कुंजी होती है। सर्विंग का साइज और कार्बोहाइड्रेट का प्रकार विशेष रूप से महत्वपूर्ण होता हैं। इसलिए होलग्रेन कार्बोहाइड्रेट पर ध्‍यान दें क्‍योंकि यह फाइबर का अच्छा स्रोत होता हैं। आसानी से पच जाता है और रक्त में शुगर के स्तर को सही रखता है।

दूध का सेवन
दूध कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का सही संयोजन होता है और यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। दैनिक आहार में दूध के दो गिलास पीना एक अच्‍छा विकल्‍प है।

उच्‍च फाइबर सब्जियां
अपने आहार में उच्‍च फाइबर सब्जियां जैसे मटर, सेम, ब्रोकोली, पालक और हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें। इसके अलावा दालें भी एक स्वस्थ विकल्प हैं और इसे आपके आहार का हिस्सा होना चाहिए।

उच्‍च फाइबर फल
फाइबर से भरपूर फल जैसे पपीता, सेब, संतरा, नाशपाती और अमरूद का सेवन भी करना चाहिए। आम, केले और अंगूर में शुगर की उच्‍च मात्रा होने के कारण इन फलों को सेवन कम करना चाहिए।

कृत्रिम स्‍वीटनर का कम इस्‍तेमाल
कृत्रिम स्‍वीटनर मूल रूप से शुगर से मिलने वाली कैलोरी को कम करता है। इन गोलियों का सेवन एक दिन में 6 गोलियों से कम होना चाहिए क्‍योंकि ज्‍यादा लेने से इसके साइड इफेक्‍ट होने लगते है। हालांकि, संयम एक बेहतर तरीका से जीवित रहने के लिए महत्वपूर्ण होता है। मधुमेह नियंत्रित किया जा सकता है अगर डॉक्टर और रोगी संयोजन के साथ काम करें।

अतिरिक्त वजन कम करें
यदि आप मोटे हैं, तो मधुमेह की रोकथाम वजन घटाने पर निर्भर हो सकती है। वजन का हर एक किलो कम करना आपके स्वास्थ्य में सुधार कर सकता हैं और आपके लिए आश्चर्यजनक हो सकता है। कम कार्बोहाइड्रेंट आहार और आहार योजना आपको वजन कम करने में मदद कर सकती हैं।

महत्‍वपूर्ण है विटामिन डी
हम में से ज्‍यादातर लोग विटामिन डी को महत्‍वपूर्ण नहीं समझते हैं। लेकिन यह मधुमेह से लड़ने के लिए महत्वपूर्ण होता है। इसलिए विटामिन डी के स्तर की जांच की जानी चाहिए। कम विटामिन डी मधुमेह का कारण भी हो सकता है। विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत धूप पड़ना है।

खाना पकाने की युक्तियां
मधुमेह रोगियों के लिए बिना तेल के खाना बनाना सीखना होगा। परिष्कृत उत्पाद ( चीनी, सफेद आटा, सफेद चावल, फलों का रस आदि) खाना बंद करना होगा। साथ ही प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ खाने बंद करने होगें। इसके अलावा डेयरी उत्पाद खाने और पीने बंद करने होगें।

आप मधुनाशिनी बटी भी ले सकते है, इसके सेवन से भी आप शुगर तथा डायबिटीज को नियंत्रित रख सकते है, सभी पास के पतंजलि स्टोर पर उपलब्ध है । आप इसे नीचे दिये
Link पर क्लीक कर के भी खरीद सकते है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: