तनाव व अवसाद रोग निवारण शिविर नोएडा । 3; 2 चार दिवसीय मेन पार्क सेक्टर 40 आज शुभारंभ । 5, 01/06से 04/06 तक लोटस बोलियाड सेक्टर 100 6; 05/06 से 09/06 तक पाँच दिवसीय त्र्रिफला पार्क सेक्टर 61 7; 06/06/2019 से 08/06/2019 तक त्रिदिवसीय शिविर सनातन धर्म मन्दिर पार्क सेक्टर 19 नोएडा । 8 ; 16/06/ 2019 को भारतीय योग संस्थान के योग साधना केंद्र सभी केन्द्र प्रमुख & अधिकारियो की सभा 21 जून की तैयारी । पाँचवाँ अंतरास्तरीय योग दिवस डी ब्लाक पार्क सेक्टर 47 नोएडा ।

आगामी कार्यक्रम

तनाव एवं अवसाद निवारण शिविर

एक बुनियादी स्तर पर, मनुष्य होने के नाते हम सब एक समान हैं, हम में से हर एक सुख की आकांक्षा रखता है और हम में से प्रत्येक दुख नहीं झेलना चाहता। इसलिए जब भी मुझे अवसर मिलता है तो मैं लोगों का ध्यान जिस ओर आकर्षित करना चाहता हूँ वह यह कि मानव परिवार के सदस्यों के रूप में हमारी समानता और हमारे अस्तित्व और कल्याण की गहन अन्योन्याश्रित प्रकृति।

योग निरोग , आसन प्राणायाम

एक बुनियादी स्तर पर, मनुष्य होने के नाते हम सब एक समान हैं, हम में से हर एक सुख की आकांक्षा रखता है और हम में से प्रत्येक दुख नहीं झेलना चाहता। इसलिए जब भी मुझे अवसर मिलता है तो मैं लोगों का ध्यान जिस ओर आकर्षित करना चाहता हूँ वह यह कि मानव परिवार के सदस्यों के रूप में हमारी समानता और हमारे अस्तित्व और कल्याण की गहन अन्योन्याश्रित प्रकृति।

नोएडा सेक्टर 76 योग शिविर

नोएडा सेक्टर 76 मे पाँच दिवसीय योग शिविर का समापन । तनाव एवं अवसाद रोग निवारण शिविर मे तनाव मुक्त विश्व बनाने पर जोड़ दिया गया ।

आगामी योग शिविर नोएडा

21 जुन नोएडा सेक्टर 47 मे अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस

भारतीय योग संस्थान

नोएडा सेक्टर 40 मे तनाव एवं अवसाद रोग निवारण शिविर

भारतीय योग संस्थान

नोएडा सेक्टर 36

भारतीय योग संस्थान जीओ और जीवन दो के अपने लक्ष्य के साथ लगातार आगे कदम बढाते जा रहा है। इसी के क्रम मे अब शाम की समय भी योग क्लास भी शुरु किया गया है। यह क्लास सेक्टर 36 बारात घर के पास वाले पार्क मे लगाया जा रहा है। कोई भी साधक जो किसी कारण वश सुबह स्वास्थ्य लाभ नही ले पा रहे है ,वह लोग अब शाम मे स्वास्थ्य लाभ कर सकते है।

यहाँ की क्लास की संचालन रीता गुप्ता करती है।

योग क्लास सेक्टर 36 नोएडा
नोएडा सेक्टर 61 : तनाव एवं अवसाद रोग निवारण शिविर
जियो और जीवन दो के अपने लक्ष्य के साथ लगातार बढ़ रहे भारतीय योग संस्थान के द्वारा संचालित योग सधना केंद्र। भारत के 23 राज्यो सहित दुनिया भर के 50 से अधिक देशों में अपना योग साधना केंद्र स्थापित कर चुकी है। इस संसथान की स्थापना 1967 में किया गया था। इस अवसर पर भारतीय योग संस्थान के जिला प्रधान श्री हरवंश लाल ढींगरा, भूपेंद्र कौर, मोहिंदर सिंह, मायावी जैन, हिरा सिंह विष्ट, अशोक अरोड़ा, जवाहर जी, अभिषेक जी तथा अन्य साधक मौजूद रहे।
भारतीय योग संस्थान के योग साधना केंद्र सेक्टर 40 सेंट्रल पार्क मे चार दिवसीय शिविर ( तनाव &अवसाद रोग निवारण) शिविर का समापन हो गया । चार दिवसीय इस योग शिविर मे 100 से अधिक लोगों ने भाग लिया। तनाव एवं अवसाद के कारण तथा बचाव पर हुई चर्चा रहा केन्द्र बिंदू मे। कार्यक्रम मे शंका एवं समाधान पर भी प्रश्न तथा उतर किया गया ।
नोएडा सेक्टर 40 योग शिविर तनाव कारण एवं निदान

भारतीय योग संस्थान नोएडा सेक्टर 100

वतन की आवाज की तरह से आप सभी को 21 जुन योग दिवस के लिए हार्दिक शुभकामनाएँ । रमण झा Editro वतन की आवाज

नोएडा सेक्टर 47 मे योग रिहार्सल कार्यक्रम

जैसा कि आप सभी जानते है कि आगामी 21 जुन को भारत समेत दुनिया के लगभाग 200 देश योग दिवस मनाने जा रहा है। अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर यह 5वाँ योग दिवस मनाया जायेगा। देश तथा दुनिया के विभिन्न हिस्सें मे जोर शोर से इसकी तैयारियाँ चल रही है। इसी के उपलक्ष्य मे भारतीय योग संस्थान के द्वारा नोएडा सेक्टर 47 मे योग दिवस मनाया जायेगा। आज सुबह इस कार्यक्रम के मध्यनजर रिहार्सल किया गया। कुछ इमेज तथा विडियो उपलब्ध है।

Featured Classes

नोएडा सेक्टर 47 मे योग प्रभात फेरी

नोएडा सेक्टर 47 मे योग प्रभात फेरी का आयोजन किया गया। इस प्रभाक फेरी का मुख्य उद्देश्य लोगों मे जागरुकता लाना । बड़ी संख्या मे लोग योग से जुड़े और आगामी 21 जुन मे कोई भी योग से वंचित न रह जाये।

चन्द्रभेदी प्राणायाम: पेट की गर्मी को कम करने में सहायक है ये प्राणायाम

प्राणायाम को नियमित करने से कई रोगों से छुटकारा मिलता है. इसी प्रकार चन्द्रभेदी प्राणायाम से शरीर में होने वाले परिवर्तन और साथ ही उनसे होने वाले रोगों से छुटकारा मिलता है. चन्द्रभेदी प्राणायाम को करने से शरीर में उपस्थित नाड़ी जो झडा नाड़ी के नाम से जानी जाती है उसकी शुद्धि होती है. साथ ही इसे करने से चन्दर नाड़ी भी क्रियाशील हो जाती है. जिस कारण ही इस प्राणायाम का नाम चन्द्रभेदी प्राणायाम रखा गया है. चन्द्रभेदी प्राणायाम को अंग्रेजी में लेफ्ट नॉस्ट्रिल ब्रीथिंग भी कहा जाता है. चन्द्रभेदी प्राणायाम दो शब्दों में मिलकर बना हुआ है जिसमे चंद्र यानी चन्द्रमा और भेदी अर्थात प्रवेश करना या तोडना. साँस लेने के लिए हमारे पास दो नथुने होते है. योग में इन्हे नाड़ी कहा जाता है जिसमे दाए नथुने को सुर्य नाडी है और बाएं नथुने को चन्द्र नाडी के रूप में जाना जाता है . चन्द्रभेदी प्राणायाम सरल और प्रभावी साँस लेने की तकनीक है. जानते है चन्द्रभेदी प्राणायाम को करने की विधि और उसके फायदे के बारे में.
“Yoga Education / Yog Shiksha (B.P.Ed. Syllabus according to NCTE New Syllabus)- Hindi…. CONTENTS UNIT 1: Introducation (5 chapters) UNIT 2: Foundation of Yoga (2 chapters) UNIT 3: Asanas (5 chapters) UNIT 4: Yoga Education (4 chapters)…. About Author- Dr. Tarak Nath Pramanik – He is a senior young physical educator. He completed his B.P.E., M.P.E. and Ph.D. from L.N.I.P.E., Gwalior. – He also did Diploma in Yoga and Naturopathy. – He is an active Organizing Secretary in Indian Yoga Federation and Secretary in Delhi State Yoga Association. – He has achieved first position in the University at Post- graduation examination with special subject : Helth Education and Sports Medicine””. – He has published three books in the field of physical education and sports. – Currently working as Assistant Professor in Indira Gandhi Institute of Physical Education and Sports Science.”…

Share this:

Like this:

Like Loading...
%d bloggers like this: