बाल विकास परियोजना मे पहला भ्रस्टाचार, स्वमं सहायता समूहो के सहयोग से*

*
राहुल सिंह ब्यूरो चीफ
दैनिक समाज जागरण

धौरहरा खीरी:- कार्यालय विकास खण्ड धौरहरा में स्थति बाल विकास पुष्टाहार विभाग के आफिस से आगंनवाडी कार्यकर्तियो को मिलने वाला पुष्टाहार विभाग के जिम्मेदारो द्वारा सीधे उठान कराया जाता है।जबकि इसका वितरण समूह के सदस्यो द्वारा सेन्टरो पर करना चाहिये।
विकास खण्ड धौरहरा मे बालविकास परियोजना में ज्यादातर काम नियम विरुद्ध मिलीभगत से जारी है। नियम के मुताबिक आगंनवाडी सेन्टरो पर पुष्टाहार को स्वमं सहायत समूह के सदस्यो द्वारा पहुचाने का प्रावधान है। लेकिन पिछले कई माह से जिम्मेदारो ने सीधे कार्यकर्तियो को गोदाम से उठान कराने की परम्परा डाली गई है।नाम न छापने की शर्त पर कई कार्यकर्तियो ने बताया कि हम लोगो से प्रति माह ₹ 1000 की वसूली भी होती है।व कभी कभी कम पुष्टाहार(तेल,दाल,व अन्य) भी दिया जाता है। सूत्रो के अनुसार विभाग के द्वारा बचाये गये पुष्टाहार को विभागीय कर्मचारियो द्वारा कस्बे की एक दुकान पर सामान बेचने की भी सूचना मिल रही है। जानकारी के मुताबिक लिपिक राजेश कुमार से गोदाम का चार्ज भी लिया जा चुका है। सूत्रो के अनुसार बाल विकास एंव पुस्टाहार विभाग मे गडबडी चरम पर चल रही है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: