सभी टाउन वेंडिंग कमेटी मेंबर का जांच करायी जाय: श्याम किशोर गुप्ता

नोएडा समाज जागरण

नोएडा में रेहड़ी पटरी वाले को फर्जी तरीके से लाईसेंस दिलाने वाली विडियों वायरल होने के बाद रेहड़ी पटरी संचालक वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव श्याम किशोर गुप्ता नें प्रदेश के योगी सरकार से सभी टाउन वेंडिंग कमेटी सदस्यो के एसआईटी के जांच की मांग किया है। बता दे कि एक विडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें एक व्यक्ति रेहड़ी पटरी वालों को लाईसेंस दिलाने की बात कहता दिख रहा है। लेकिन रेहड़ी पटरी वाले उससे पैसे वापसी की मांग कर रहे है। संभवत: यह पैसे या तो फर्जी तरीके से लाईसेंस बनवाने के लिए दिया गया हो या फिर कोर्ट से स्टे आर्डर लाने के लिए। विडियों सेक्टर 135 की बताया जा रहा है और विडियो में वकील के ड्रेस में जो व्यक्ति है उसका नाम दिलीप पासवान है ऐसा सूत्रों से जानकारी मिली है।

विडियों सामने आने के बाद एक बार फिर से रेहड़ी पटरी संचालक वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव श्याम किशोर गुप्ता नें कहा है कि इन सभी टाउन वेंडिंग कमेटी सदस्यों की एसआईटी जांच होनी चाहिए और दोषी पाये जाने पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। इससे पहले नोएडा सेक्टर 16 झुग्गी बस्ती के प्रधान ब्रह्मपाल सिंह नें भी प्राधिकरण और प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर टाउन वेंडिंग कमेटी भंग करने और फिर से नये तरीके से गठित करने की मांग किया। उनका कहना था कि लोगों को बुला बुलाकर फार्म भरवाये जा रहे है जबकि मौके पर जाकर सर्वे होना चाहिए और जो मौके पर मिले उसी को पात्र माना जाना चाहिए। लेकिन नोएडा प्राधिकरण के सर्किल आफिसर, फिल्ड आफिसर के साथ मिलकर यह सब खेल किया जा रहा है। विडियों सामने आने बाद उनका कहना था कि यह लोग अकेले नही है इनका पूरा गैंग है। ऐसे लोगों पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। वेंडरों के साथ लगातार उत्पीड़न बढ़ता ही जा रहा है।

एक विडियो और भी सामने आया है जिसमे जिलाधिकारी के द्वारा लिखे गए पत्र को फर्जी बताया जा रहा है। यह सबकुछ नोएडा प्राधिकरण के नाक के नीचे चल रहा है लेकिन प्राधिकरण अपने हाथी के जैसी मस्त चाल में चलती जा रही है। क्या फर्क पड़ता है कि सुप्रीम कोर्ट नें क्या कहा है नोएडा प्राधिकरण के बारे में। रिट संख्या 36189 को फर्जी बताकर वेंडर को गुमराह किया जा रहा है।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: