सपा प्रमुख को नसीहत, शक्ति प्रदर्शन से अधिक शक्तिशाली है कलम की ताकत

गाजियाबाद के पत्रकार खालिद चौधरी के साथ सपा सुप्रीमो के सामने की गई मारपीट की घटना पर पत्रकारों में भारी आक्रोष । सपा प्रमुख शक्ति प्रदर्शन न करे तो अच्छा होगा :

पत्रकार एकता महासंघ के चित्रकूट मंडल अध्यक्ष संजय मिश्रा ने कहा : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के सुरक्षाकर्मियों द्वारा हिंदी खबर के पत्रकार खालिद चौधरी के साथ सुरक्षाकर्मियों द्वारा सपा सुप्रीमो के सामने मारपीट करना बहुत निंदनीय और दुखद है इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए वह कम है:
पत्रकार एकता महासंघ फाउंडेशन भारत का राष्ट्रीय पत्रकार संगठन है। उन्होने आगे कहा कि अखिलेश यादव शायद यह भूल गए हैं कि शक्ति प्रदर्शन से अधिक शक्तिशाली होती है कलम की ताकत ।
पत्रकार एकता महासंघ प्रदेश के सभी जिलों में सपा सुप्रीमो का विरोध करती है और सपा प्रमुख अखिलेश यादव को अपनी गलती का एहसास कर पत्रकार से माफी मांगना चाहिए और अगर सपा सुप्रीमो द्वारा गलती का एहसास नहीं किया जाता तो पत्रकार एकता महासंघ फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अंकित अवस्थी और राष्ट्रीय महासचिव सूरज मरावी को घटना की संपूर्ण जानकारी से अवगत करा कर सपा सुप्रीमो के विरोध में आगे की रणनीति तय की जाएगी।

क्योंकि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री के सामने उसी के सुरक्षाकर्मियों द्वारा देश के चौथे स्तंभ के साथ मारपीट करना निंदनीय ही नहीं बल्कि प्रदेश के लिए भी घातक है। सपा सुप्रीमो मुख्यमंत्री बनने के पहले पत्रकारों को इतने गर्म मिजाजी तेवर अभी से दिखाने लगे हैं तो मुख्यमंत्री बनने के बाद पत्रकारों का क्या होगा इसका अंदाजा इस घटना से ही लगाया जा सकता है।
पत्रकार एकता महासंघ के चित्रकूट मंडल अध्यक्ष संजय मिश्रा उत्तर प्रदेश के सभी पत्रकारों से अपील की है कि आप लोग पत्रकार एकता महासंघ में जोड़कर संगठन और अपने को मजबूत बनाएं और किसी भी पत्रकार को हताश या घबराने की आवश्यकता नहीं है पत्रकार एकता महासंघ आपके साथ था और है तथा आगे भी हमेशा रहेगा पत्रकार एकता महासंघ ईट का जवाब पत्थर से देना भली भांति जानता और पहचानता है

Please follow and like us:
%d bloggers like this: