आम आदमी पार्टी का बड़ा आरोप, सुपरटेक मामले मे जांच एक छलावा है

नोएडा समाज जागरण 6 अक्टुबर 2021

नोएडा सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट ट्वीन टावर मामले में एसआईटी जांच को आम आदमी पार्टी नें एक बड़ा छलावा बताया है। पार्टी नें नोएडा सेक्टर 29 प्रेस क्लब में प्रेसवार्ता किया। जिसमें पार्टी के नेता नें कहा कि यह जांच योगी सरकार के द्वारा आम जनता तथा निवेशकों के साथ छलावा है। जांच के बाद 26 लोगों पर एफआईआर तो किया गया है लेकिन अभी तक किसी को भी गिरफ्तार नही किया गया है। वर्तमान के सीओ रितु महेश्वरी के कार्यकाल को लेकर भी सवाल उठाये है।

प्रो. ए. के सिंह ने कहा कि वर्तमान सीओं के समय में कोर्ट में प्राधिकरण के द्वारा बिल्डर के सपोर्ट में डाक्यूमेंटस लगाए गए जो कि भ्रष्टाचार साबित करने के लिए पूर्ण प्रमाण है। जिससे इनकी संलिप्तता और बढ जाती है। इन पर भी निलंबन की कारवाई होनी चाहिए। इसके अलावा पूर्व के सीओं बलविंदर कुमार, राकेश बहादुर, रमा रमन दीपक अग्रवाल सहित कई अन्य लोगों पर भी भ्रष्ट्राचार बनते है लेकिन इन लोगों के कोई जांच नही किये गये है। इन सबका दोष सिर्फ मोहिंदर कुमार पर भी मढ़ दिया गया है। एसआईटी नें भी सारा ठीकरा मोहिंदर कुमार पर फोड़ दिया है और बांकि सभी को बचा लिया है। जबकि उस समय में कई अन्य एसीओ, डीसीओ भी थे जिनका नाम गायब कर दिया गया है।

प्रो. सिंह ने योगी सरकार से मांग की है 2005 से लेकर 2012 तक सभी प्रकार के डील पर जिसमें ग्रुप हाउसिंग के लिए भू-खंडों के आवंटन प्रक्रिया में बिल्डरों को फायदा पहुँचाने के लिए बोर्ड नियमों में बदलाव से लेकर एफएआर तक की जांच की जानी चाहिए। खेल से लेकर अन्य नियमों में बदलाव कर बिल्डरों को फायदा पहुँचाया गया इसकी पूर्ण जांच होनी चाहिए। इस पूरे खेल में जो लोग शामिल है सबकी जांच सुप्रिम कोर्ट के जस्टिस श्री चंद्रचुड़ के देखरेख या सीबीआई से कराई जाय। लेकिन योगी सरकार नें प्रदेश के जनता को सिर्फ गुमराह करने का काम किया है।

Noida Authority's FIR against 32 people in supertech illegal construction case
Noida Authority’s FIR against 32 people in supertech illegal construction case
Please follow and like us:
%d bloggers like this: