fbpx

*मायावती की पार्टी ने कर दिया बीजेपी का समर्थन,राजनितिक जगत में आया भूचाल*

अहमदनगर महाराष्ट्र :
इस समय पुरे देश में लोकसभा चुनाव-2019 को लेकर हर पार्टी की तरफ से जोर शोर की तैयारियां चल रही है वैसे फिलहाल महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव के बाद विधान सभा चुनाव भी होने को है जिसको लेकर हर पार्टी अपनी – अपनी तरफ से जोर अजमाइस सुरु कर चुकी है और सत्ता के लिए हर हथकंडे इस कदर अपनाने को तैयार है जैसे होली के समय सभी लोग दुश्मनी भूलकर सिर्फ रंग खेलते हैं उसी प्रकार से चुनाव की तैयारी हर पार्टी कर रही है की अगर कहीं लाभ दिख रहा है तो सारे गीले शिकवे भूलकर दुश्मन को भी गले लगा लो अब तो हर पार्टी के नेता एक दूसरे पर आरोप – प्रत्यारोप भी बखूबी लगाना जारी कर दिये हैं और प्रत्याशियों को भी अपनी तरफ खींचने का पूरा प्रयास भी कर रहें है! इसके अलावा पार्टिया वोटरों को भी अपनी पार्टी के प्रति लुभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है!ऐसे में राजनीति का पूरा माहोल भी बहुत ही गरम होता जा रहा है!
अगर महाराष्ट्र की बात करे तो यहाँ पर बहुत ही घमासान मचा हुआ है!और महाराष्ट्र की राजनीति में बहुत कुछ फेरबदल भी देखने को मिल रहा है और अगर अदला – बदली में *कोई नेता बीजेपी में या शिवसेना में प्रवेश करे तो चौकियेगा नहीं* क्योंकि इसकी सुरुआत महारास्ट्र में बीजेपी के बाबा साहेब वकाले अहमदनगर से मेयर चुने जाने पर हो चुकी है ।
सूत्रों की माने तो उनके मेयर चुने जाने के पीछे एनसीपी और बसपा की बहुत बड़ी भूमिका रही है ।
हम आपको बतादे कि *अहमदनगर में कुल 68 पार्षद हैं उनमे से बीजेपी के केवल 14**पार्षद हैं फिर भी यहाँ से बीजेपी का मेयर जीता है और अहमद नगर में बाबा साहेब 37 पार्षदों के साथ मेयर चुने गए है ।
महाराष्ट्र में 14 बीजेपी के पार्षद होने के बावजूद बाबा साहेब को 37 पार्षदों का समर्थन भी मिला है,एनसीपी के 18 और बसपा के 4 पार्षदों का भी समर्थन मिला है!जिस कारण से वह अहमदनगर के मेयर चुने गए है ।
*महाराष्ट्र में बसपा का बीजेपी के साथ होना एक नया सियासी गठबंधन भी माना जा रहा है* , आपको ज्ञात कराना चाहते हैं कि अहमदनगर में सबसे ज्यादा शिवसेना ने 24 सीटे जीती थी फिर भी मेयर बीजेपी के 14 पार्षद धारी ही बने ।

महेंद्र मणि पाण्डेय ( मुम्बई )

Please follow and like us:
%d bloggers like this: